कमल हासन ने पेश किया आर्थिक एजेंडा, गृहणियों को घर के कामकाज के लिए 'भुगतान' का वादा

  •  प्रभासाक्षी न्यूज नेटवर्क
  •  दिसंबर 21, 2020   21:29
कमल हासन ने पेश किया आर्थिक एजेंडा, गृहणियों को घर के कामकाज के लिए 'भुगतान' का वादा

पार्टी के एजेंडे में कहा गया है, ‘‘गृहणियों को भुगतान के जरिये उनके द्वारा किए जाने वाले कामों को पहचान दी जाएगी, क्योंकि उनके काम को अब तक न तो पहचान दी जाती है और न ही भुगतान किया जाता है। महिलाओं के सम्मान को बढ़ाया जाएगा।’’

कांचीपुरम। अभिनेता से राजनेता बने कमल हासन ने सोमवार को आश्वासन दिया कि अगर उनकी पार्टी मक्कल निधि मय्यम (एमएनएम) 2021 में तमिलनाडु विधानसभा चुनाव में जीत हासिल कर सत्ता में आती है तो गृहणियों को घर के कामकाज के लिए ‘भुगतान’, सभी घरों को हाई स्पीड इंटरनेट सेवा और किसानों को कृषि आधारित उद्योगों के जरिये उद्यमी बनाया जाएगा। पार्टी के सात बिंदुओं वाले ‘शासन और आर्थिक एजेंडे’ को जारी करते हुए उन्होंने कहा कि गरीबी रेखा से नीचे के लोगों को ‘समृद्धि रेखा’ में लाया जाएगा। 

इसे भी पढ़ें: कमल हासन लोगों का भला नहीं कर सकते, उनका काम परिवारों को बिगाड़ना है: पलानीस्वामी 

पार्टी के एजेंडे में कहा गया है, ‘‘ गृहणियों को भुगतान के जरिये उनके द्वारा किए जाने वाले कामों को पहचान दी जाएगी, क्योंकि उनके काम को अब तक न तो पहचान दी जाती है और न ही भुगतान किया जाता है। महिलाओं के सम्मान को बढ़ाया जाएगा।’’ हासन ने पार्टी के एजेंडे को चेन्नई के निकट स्थित मंदिरों के लिए प्रसिद्ध कस्बे कांचीपुरम में जारी किया। इस दौरान पूर्व आईएएस अधिकारी संतोष बाबू भी मौजूद रहे।बाबू हाल ही में एमएनएम में शामिल हुए हैं। 

इसे भी पढ़ें: कमल हासन ने रजनीकांत से हाथ मिलाने के दिये संकेत, कहा- बस एक फोन कॉल की देरी है

पत्रकारों के सवाल के जवाब में हासन ने कहा कि महिलाओं को भुगतान किया जाना संभव है। हासन ने कहा कि भ्रष्टाचार के बिना राज्य समृद्ध बन सकता है। उन्होंने एक सवाल के जवाब में सत्तारूढ़ अन्ना द्रमुक या द्रमुक के साथ गठबंधन करने से इनकार किया है। राज्य में आगामी विधानसभा चुनाव अप्रैल-मई में संभावित हैं। हालांकि एमएनएम, अन्नाद्रमुक और द्रमुक ने मतदाताओं का दिल जीतने के लिए अभियान शुरू कर दिए हैं।





Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।


नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।

Prabhasakshi logoखबरें और भी हैं...

राष्ट्रीय

झरोखे से...