उपचुनाव के नतीजों के बाद कर्नाटक में होगा राजनीतिक नाटक: कुमारस्वामी

  •  प्रभासाक्षी न्यूज नेटवर्क
  •  सितंबर 24, 2019   17:44
उपचुनाव के नतीजों के बाद कर्नाटक में होगा राजनीतिक नाटक: कुमारस्वामी

कुमारस्वामी ने कहा कि 24 अक्टूबर के परिणाम के बाद हम सब नयी राजनीतिक नौटंकी देखेंगे। जद(एस) ने कांग्रेस के साथ गठबंधन सरकार चलाया और लोकसभा चुनाव भी साथ मिलकर लड़ा, लेकिन इस उपचुनाव में अकेले उतरने का फैसला किया है। कांग्रेस-जद(एस) के अयोग्य करार दिए गए 17 विधायकों में 15 के निर्वाचन क्षेत्र में 21 अक्टूबर को उपचुनाव होगा और 24 अक्टूबर को परिणाम की घोषणा की जाएगी।

 बेंगलुरू। कर्नाटक के 15 विधानसभा क्षेत्रों में उपचुनाव के लिए राजनीतिक दलों की तैयारियों के बीच, पूर्व मुख्यमंत्री एच डी कुमारस्वामी ने मंगलवार को कहा कि 24 अक्टूबर को उपचुनाव के नतीजों के बाद राज्य में राजनीतिक नाटक होगा।  उन्होंने कहा कि सभी निर्वाचन क्षेत्रों में पार्टी के उम्मीदवार उतारे जाएंगे। पार्टी ने इन चुनावों में अकेले उतरने का फैसला किया है। नामांकन पत्र 30 सितंबर तक दाखिल किए जाएंगे।  कुमारस्वामी ने कहा कि अगले दो दिनों में हम उम्मीदवारों को चुनने की प्रक्रिया को अंतिम रूप देंगे और स्थानीय पार्टी के कार्यकर्ताओं को उतारा जाएगा। मैसुरू में संवाददाताओं से बात करते हुए उन्होंने कहा कि पार्टी का लक्ष्य अधिकतम सीटें जीतने, संगठन को मजबूत करने और लोगों का विश्वास जीतने का है। उन्होंने कहा कि यह चुनाव सभी राजनीतिक दलों के लिए, सरकार के लिए भी इम्तिहान की तरह है। 

इसे भी पढ़ें: कर्नाटक उपचुनाव से पहले सिद्धरमैया और कुमारस्वामी में जुबानी जंग जारी

कुमारस्वामी ने कहा कि 24 अक्टूबर के परिणाम के बाद हम सब नयी राजनीतिक नौटंकी देखेंगे।  जद(एस) ने कांग्रेस के साथ गठबंधन सरकार चलाया और लोकसभा चुनाव भी साथ मिलकर लड़ा, लेकिन इस उपचुनाव में अकेले उतरने का फैसला किया है।  कांग्रेस-जद(एस) के अयोग्य करार दिए गए 17 विधायकों में 15 के निर्वाचन क्षेत्र में 21 अक्टूबर को उपचुनाव होगा और 24 अक्टूबर को परिणाम की घोषणा की जाएगी।  जिन 15 निर्वाचन क्षेत्रों में उपचुनाव हो रहा है, उसमें कांग्रेस के 12 और जद(एस) के तीन विधायक थे।

 





Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।


नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।

Prabhasakshi logoखबरें और भी हैं...

राष्ट्रीय

झरोखे से...