आजम खान को जेल में बंद रखना न्याय का गला घोंटने जैसा : मायावती

  •  प्रभासाक्षी न्यूज नेटवर्क
  •  मई 12, 2022   11:29
आजम खान को जेल में बंद रखना न्याय का गला घोंटने जैसा : मायावती
ani

मायावती ने भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) पर निशाना साधते हुए बृहस्पतिवार को ट्वीट किया कि उत्तर प्रदेश और भाजपा शासित अन्य राज्यों में ‘‘गरीबों, दलितों, आदिवासियों एवं मुस्लिमों को जुल्म-ज्यादती एवं भय आदि का शिकार बनाकर जिस प्रकार परेशान किया जा रहा है, वह अति-दुःखद है।’’

लखनऊ। बहुजन समाज पार्टी (बसपा) अध्यक्ष मायावती ने समाजवादी पार्टी (सपा) के वरिष्ठ नेता मोहम्मद आज़म खान को करीब दो वर्षों से जेल में बंद रखे जाने को न्याय का गला घोंटने जैसा बताया है। मायावती ने भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) पर निशाना साधते हुए बृहस्पतिवार को ट्वीट किया कि उत्तर प्रदेश और भाजपा शासित अन्य राज्यों में ‘‘गरीबों, दलितों, आदिवासियों एवं मुस्लिमों को जुल्म-ज्यादती एवं भय आदि का शिकार बनाकर जिस प्रकार परेशान किया जा रहा है, वह अति-दुःखद है।’’

इसे भी पढ़ें: दिल्ली: बिजली सब्सिडी लेने या नहीं लेने का विकल्प ऑनलाइन एवं ऑफलाइन तरीके से चुन सकेंगे उपभोक्ता

मायावती ने आरोप लगाया कि उत्तर प्रदेश सरकार अपने विरोधियों पर लगातार द्वेषपूर्ण कार्रवाई कर रही है। उन्होंने कहा, ‘‘वरिष्ठ विधायक मोहम्मद आजम खान को करीब सवा दो वर्षों से जेल में बंद रखने का मामला काफी चर्चा में है।

इसे भी पढ़ें: Prabhasakshi Newsroom। पैसों की 'खान' वाली पूजा सिंघल गिरफ्तार, भाजपा ने पूछा- निलंबित क्यों नहीं किया गया ?

यह मामला न्याय का गला घोंटना नहीं, तो और क्या है?’’ उन्होंने आरोप लगाया कि देश के कई राज्यों में दुर्भावना एवं द्वेषपूर्ण रवैया अपनाकर प्रवासियों एवं मेहनतकश लोगों को अतिक्रमण के नाम पर डराया जा रहा है और उनकी रोजी-रोटी छीनी जा रही है, जो अत्यंत चिंताजनक है। सपा नेता आजम खान विभिन्न मामलों में पिछले करीब दो साल से सीतापुर जेल में बंद है।





Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।


नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।