Prabhasakshi Newsroom। पैसों की 'खान' वाली पूजा सिंघल गिरफ्तार, भाजपा ने पूछा- निलंबित क्यों नहीं किया गया ?

Prabhasakshi Newsroom। पैसों की 'खान' वाली पूजा सिंघल गिरफ्तार, भाजपा ने पूछा- निलंबित क्यों नहीं किया गया ?
प्रतिरूप फोटो
ANI Image

मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन ने गिरफ्तारी के संबंध में पूर्ववर्ती रघुवर दास सरकार पर हमला बोलते हुए कहा कि पिछली सरकारों में जिन लोगों को क्लीनचिट दी गई आज उन्हीं के खिलाफ भ्रष्टाचार के आरोप लगाए जा रहे हैं और उन्हें गिरफ्तार किया जा रहा है। वहीं भाजपा ने सरकार पर गंभीर आरोप लगाए हैं।

पैसों की खदान वाली पूजा सिंघल को प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) ने धनशोधन मामले में गिरफ्तार किया है। इसी बीच भाजपा ने सवाल उठाया कि अभी तक पूजा सिंघल को निलंबित क्यों नहीं किया गया है। हालांकि राज्य सरकार ने उनके निलंबन की कार्रवाई शुरू कर दी है। इस संबंध में मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन का भी बयान सामने आया। उन्होंने तल्ख स्वर में कहाकि राज्य की पिछली सरकारों के समय के भ्रष्टाचार के मामलों में ऐसा शोर मचाया जा रहा है जैसे यह उनके कार्यकाल से जुड़ा हो। वास्तव में इसे कहा जाता है, 'चोर मचाये शोर'। 

इसे भी पढ़ें: मनरेगा घोटाले पर ED की बड़ी कार्रवाई, जानें कौन हैं IAS पूजा सिंघल जिनके झारखंड, बिहार सहित 20 ठिकानों पर हुई छापेमारी 

पूर्ववर्ती सरकार पर बरसे सोरेन

मुख्यमंत्री ने गिरफ्तारी के संबंध में पूर्ववर्ती रघुवर दास सरकार पर हमला बोलते हुए कहा कि पिछली सरकारों में जिन लोगों को क्लीनचिट दी गई आज उन्हीं के खिलाफ भ्रष्टाचार के आरोप लगाए जा रहे हैं और उन्हें गिरफ्तार किया जा रहा है। पिछली सरकारों ने ऐसे अधिकारियों और उनके भ्रष्टाचार पर नजर रखी होती और कार्रवाई की होती तो आज ऐसे हालात नहीं होते। राज्य में इस तरह गरीबी की स्थिति नहीं होती।

भाजपा ने उठाए गंभीर सवाल

भाजपा प्रदेश अध्यक्ष एवं राज्यसभा सांसद दीपक प्रकाश ने भ्रष्टाचार के आरोप में गिरफ्तार पूजा सिंघल को अब तक निलंबित नहीं किए जाने पर पूछा है कि आखिर राज्य सरकार ने अब तक यह कार्रवाई क्यों नहीं की? दीपक प्रकाश ने कहा कि राज्य की जनता उम्मीद कर रही थी कि मुख्यमंत्री जी अपना राजधर्म निभाएंगे लेकिन राज्य मंत्रिमंडल की बैठक के बाद भी उन्होंने ईडी द्वारा गिरफ्तार पूजा सिंघल पर कोई निर्णय नहीं किया।

भारतीय प्राशासनिक सेवा (आईएएस) की 2000 बैच की अधिकारी पूजा सिंघल को तीन दिनों की लंबी पूछताछ के बाद ईडी ने गिरफ्तार कर लिया। उन पर जिस मामले में ईडी ने कार्रवाई की है वह खूंटी जिले में उपायुक्त के रूप में कार्यकाल के दौरान मनरेगा में किए गए कथित भ्रष्टाचार से जुड़ा है।

सूत्रों से मिली जानकारी के मुताबिक, पूजा सिंघल और उनके दूसरे पति अभिषेक झा ने अपने सीए सुमन सिंह के यहां से बरामद 19 करोड़ रुपए से अधिक की नकदी के बारे में कोई संतोषजनक जवाब नहीं दिया, जबकि ऐसा माना जाता है कि पूजा सिंघल की काली कमाई का धन उनके सीए सुमन सिंह ही निवेश करते थे। पूजा सिंघल झारखंड की उद्योग एवं खान सचिव हैं।

क्या है डायरी का राज ?

आपको बता दें कि ईडी को पूजा सिंघल के पास से एक डायरी मिली है। इस डायरी में कई हाई प्रोफोइल लोगों के राज होने के आसार हैं। ईडी को यह डायरी छापेमारी के दौरान मिली थी। कहा जा रहा है कि इस डायरी में लेन-देन से जुड़ी जानकारियां मौजूद हैं। साथ ही साथ कई लोगों के मोबाइल नंबर लिखे हुए हैं। हालांकि इसकी ज्यादा जानकारी नहीं मिल पाई है लेकिन जैसे-जैसे वक्त गुजरेगा... राज दर राज बाहर निकलकर आएंगे। 

इसे भी पढ़ें: दबाव में बयान दर्ज करवाने के शाओमी के आरोप गलत और बेबुनियाद: ईडी 

कोलकाता में भी हुई छापेमारी

ईडी ने सीए सुमन सिंह से पूछताछ के बाद कोलकाता में भी छापेमारी की। पूजा सिंघल, उनके पति और सीए सुमन सिंह से ईडी पिछले 4 दिनों से पूछताछ कर रही है और इस दौरान इन लोगों ने ईडी के समक्ष कई खुलासे भी किए हैं। जिसके आधार पर ईडी के अधिकारियों ने बुधवार को कोलकाता में एक बिल्डर के ठिकानों पर छापेमारी की।





नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।