CM केजरीवाल पर तिरंगे के अपमान का आरोप, केंद्रीय मंत्री ने LG को लिखी चिट्ठी

CM केजरीवाल पर तिरंगे के अपमान का आरोप, केंद्रीय मंत्री ने LG को लिखी चिट्ठी

केंद्रीय संस्कृति व पर्यटन मंत्री प्रहलाद पटेल ने कहा कि अरविंद केजरीवाल की प्रेस कॉन्फ्रेंस में राष्ट्रीय ध्वज को गलत तरीके से लगाया जाता है। दो ध्वजों को ऐसे लगाया जाता है, जिसमें लगता है कि ध्वज पर हरी पट्टियां बढ़ाई गई है। धव्ज की जो संवैधानिक मर्यादा है वो बनी रहनी चाहिए।

तिरंगे के अपमान के मामले में दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल घिर गए हैं। केंद्रीय मंत्री प्रह्लाद पटेल ने एलजी और सीएम केजरीवाल को चिट्ठी लिखी गई है। चिट्ठी में तिरंगे के अपमान पर आपत्ति जताई गई है। आरोप ये है कि प्रेस कॉन्फ्रेंस में राष्ट्रीय ध्वज का अपमान किया गया। केंद्रीय संस्कृति व पर्यटन मंत्री प्रहलाद पटेल ने कहा कि अरविंद केजरीवाल की प्रेस कॉन्फ्रेंस में राष्ट्रीय ध्वज को गलत तरीके से लगाया जाता है। दो ध्वजों को ऐसे लगाया जाता है, जिसमें लगता है कि ध्वज पर हरी पट्टियां बढ़ाई गई है। धव्ज की जो संवैधानिक मर्यादा है वो बनी रहनी चाहिए।

इसे भी पढ़ें: CM केजरीवाल की केंद्र से मांग- बच्चों के लिए जल्द से जल्द फाइजर के टीके खरीदे जाएं

केंद्रीय मंत्री ने अपने पत्र में लिखा कि भारत सरकार गृह मंत्रालय की ओर से निर्दिष्ट भारतीय झंडा संहिता में उल्लेखित भाग 1 के 1.3 मानकों का प्रयोग नहीं दिखाई देता है। दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल या आम आदमी पार्टी की ओर से इस पर फिलहाल कोई प्रतिक्रिया सामने नहीं आई है। 

क्या कहता है कानून ?

फ्लैग कोड ऑफ इंडिया 2002 के प्रावधानों के अनुसार झंडे की मैन्युफैक्चरिंग में रंग, आकार या धागे को लेकर किसी भी तरह की खामी एक गंभीर अपराध है और इसमें जेल/जुर्माना या दोनों का प्रावधान है। खादी और ग्रामोद्योग आयोग और भारतीय मानक ब्यूरो द्वारा तय रंग के शेड से तिरंगे का शेड अलग नहीं होना चाहिए। केसरिया, सफेद और हरे कपड़े की लंबाईचचौड़ाई में जरा सा भी अंतर नहीं होना चाहिए। अशोक चक्र की छपाई अगले-पिछले भाग पर समान सी होनी चाहिए।  





नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।

Prabhasakshi logoखबरें और भी हैं...

राष्ट्रीय

झरोखे से...