छठ पूजा समारोह पर प्रतिबंध लगा कर केजरीवाल सरकार ने लाखों पूर्वांचलियों का अपमान किया: तिवारी

Manoj Tiwari
प्रतिरूप फोटो
दिल्ली आपदा प्रबंधन प्राधिकरण (डीडीएमए) ने आधिकारिक आदेश में कहा है, ‘‘सार्वजनिक स्थानों पर छठ पूजा की अनुमति नहीं दी जाएगी और लोगों को सलाह दी जाती है कि वे इसे अपने घरों में ही मनाएं।’’

भारतीय जनता पार्टी के सांसद मनोज तिवारी ने शुक्रवार को आरोप लगाया कि राष्ट्रीय राजधानी में छठ पूजा समारोहों पर प्रतिबंध लगा कर केजरीवाल ने लाखों पूर्वांचलियों का अपमान किया है।

तिवारी ने छठ पूजा समिति के लोगों के साथ अपने आवास पर बैठक की। उन्होंने कहा कि अगर यह प्रतिबंध वापस नहीं लिया जाता है, तो वह पूर्वांचलियों के साथ ‘बड़ा विरोध प्रदर्शन करने को मजबूर होंगे।

इसे भी पढ़ें: सिख समुदाय के सदस्यों ने नड्डा से मुलाकात की

गौरतलब है कि दिल्ली आपदा प्रबंधन प्राधिकरण (डीडीएमए) ने आधिकारिक आदेश में कहा है, ‘‘सार्वजनिक स्थानों पर छठ पूजा की अनुमति नहीं दी जाएगी और लोगों को सलाह दी जाती है कि वे इसे अपने घरों में ही मनाएं।’’

तिवारी ने कहा, ‘‘छठ पूजा पर यह प्रतिबंध लगा कर दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने दिल्ली में रहने वाले लाखों पूर्वाचलियों का अपमान किया है। आम आदमी पार्टी की ओर से तिवारी के बयान पर तत्काल प्रतिक्रिया नहीं मिल पायी है।

इसे भी पढ़ें: भाजपा के साथ गठबंधन नहीं होने पर उत्तरप्रेदश में अपने बूते पर चुनाव लड़ सकता है जदयू

Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।


नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।

अन्य न्यूज़