उप राज्यपाल ने अधिकारियों से कहा, कोई भी नागरिक भूखा न सोए, यह सुनिश्चित करें

उप राज्यपाल ने अधिकारियों से कहा, कोई भी नागरिक भूखा न सोए, यह सुनिश्चित करें

उपराज्यपाल ने यह बातें कोरोना वायरस की वजह से प्रभावित लोगों के लिए उठाए गए कदमों की समीक्षा करने के दौरान कही। उपराज्यपाल ने अधिकारियों से समाज के विभिन्न तबको तक पहुंचाई जाने वाली राहत की भी विस्तृत जानकारी मांगी।

जम्मू। कोरोना महामारी इस वर्ष भी देश में कहर मचा रहा है। कोरोना महामारी की वजह से कई राज्यों में कोरोना कर्फ्यू तो कहीं लॉकडाउन लगाया गया है। इससे मजदूरी करने वाले गरीबों पर काफी असर पड़ा है। इसी को ध्यान में रखते हुए जम्मू कश्मीर के उपराज्यपाल मनोज सिन्हा ने अधिकारियों को निर्देश दिया है। मनोज सिन्हा ने अधिकारियों से कहा कि हमें यह सुनिश्चित करना होगा कि जम्मू-कश्मीर में कोई भी व्यक्ति भूखा ना रहे। उपराज्यपाल ने यह बातें कोरोना वायरस की वजह से प्रभावित लोगों के लिए उठाए गए कदमों की समीक्षा करने के दौरान कही। उपराज्यपाल ने अधिकारियों से समाज के विभिन्न तबको तक पहुंचाई जाने वाली राहत की भी विस्तृत जानकारी मांगी।

इसे भी पढ़ें: राजनीतिक, वैचारिक मतभेदों से ऊपर उठकर सभी को महामारी से लड़ने को साथ आना चाहिए: जितेंद्र

सिन्हा ने कहा कि मध्याह्न भोजन और अन्य पूरक पोषक भोजन की आपूर्ति ज़रूरतमंद लोगों को मिलतीरहना चाहिए। उन्होंने कहा, ‘‘ दिहाड़ी, प्रवासी श्रमिकों के परिवारों का ध्यान रखें और महामारी की वजह से पैदा हुई दिक्कतों से निपटें।’’ उन्होंने अधिकारियों को निर्देश देते हुए कहा, ‘‘कोई भी भूखा न रहे, यह सुनिश्चित करना अधिकारियों की सामूहिक जिम्मेदारी है। आपको जरूरतमंद सभी नागरिकों तक पहुंचना चाहिए।

इसे भी पढ़ें: जम्मू-कश्मीर में कोरोना से उत्पन्न हालात में धीरे-धीरे सुधार हो रहा: उपराज्यपाल

इससे पहले जम्मू कश्मीर के राज्यपाल मनोज सिन्हा ने कहा था कि केंद्र शासित प्रदेश में कोविड-19 से उत्पन्न हालात में धीरे-धीरे सुधार हो रहा है। उन्होंने यहां कोविड-19 महामारी से लड़ने के लिए उनके प्रशासन द्वारा किए जा रहे प्रयासों में सभी हितधारकों से सक्रिय भागीदारी की भी अपील की। हालांकि, मनोज सिन्हा ने कहा कि आपात स्थित से निपटने के लिए व्यवस्था को मजबूत करने की योजना बनाई गई है और उसे लागू किया जा रहा ताकि उन लोगों को चिकित्सा एवं इलाज की सुविधा मुहैया कराई जा सके जिन्हें इनकी जरूरत है।





नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।

Prabhasakshi logoखबरें और भी हैं...

राष्ट्रीय

झरोखे से...