यूपी के अपराधियों में योगी का खौफ! थाने में 5 शराब माफियाओं का समर्पण, कहा- CM की नीतियों से हुए प्रभावित

यूपी के अपराधियों में योगी का खौफ! थाने में 5 शराब माफियाओं का समर्पण, कहा- CM की नीतियों से हुए प्रभावित
Creative Common

पुलिस द्वारा जिले में लगातार मादक पदार्थों और अवैध शराब के विरुद्ध की जा रही ताबड़तोड़ कार्रवाई से डरकर पांच शराब माफिया थाने पहुंच गए। इस दौरान उनके हाथों में तख्ती थी जिस पर लिखा था कि हम लोग शराब बनाते हैं, लेकिन मुख्यमंत्री की नीतियों से प्रभावित होकर शराब बनाना छोड़ रहे हैं।

उत्तर प्रदेश योगी सरकार पार्ट में ऐसा कई नजारा देखने को मिला था जब अपराधी खौफ में थे और कई नामी बदमाशों ने एनकाउंटर के डर से थाने में जाकर खुद ही आत्मसमर्पण कर दिया था। इसके अलावा बड़े माफियाओं पर बाबा का बुलडोजर भी खूब चला था। अब योगी पार्ट 2 में एक बार फिर बाबा का बुलडोजर चलना शुरू हो गया है और अपराधियों में खौफ इतना बढ़ गया है कि वो थाने जाकर समर्पण कर रहे हैं। लेकिन इन सब के बीच एक अनोखा नाजार शाहजहांपुर में देखने को मिला। जब पुलिस द्वारा जिले में लगातार मादक पदार्थों और अवैध शराब के विरुद्ध की जा रही ताबड़तोड़ कार्रवाई से डरकर पांच शराब माफिया थाने पहुंच गए। इस दौरान उनके हाथों में तख्ती थी जिस पर लिखा था कि हम लोग शराब बनाते हैं, लेकिन मुख्यमंत्री की नीतियों से प्रभावित होकर शराब बनाना छोड़ रहे हैं। हम पुलिस के समक्ष आत्मसमर्पण करने आये हैं।

इसे भी पढ़ें: प्रयागराज में एक ही परिवार के पांच लोगों की हत्या से सनसनी, जांच में जुटी पुलिस

माफिया के हाथों में जो पोस्टर था उसमें लिखा है कि, मैं कच्ची शराब बनाने और बेचने का कार्य करता हूं, परंतु योगी आदित्यनाथ की नीतियों से प्रभावित होकर अपने आप शराब बनाने का काम छोड़ रहा हूं, अब कभी शराब नहीं बनाऊंगा, इसीलिए आत्मसमर्पण करने आया हूं।  बता दें कि उत्तर प्रदेश में बिजनौर से लेकर मेरठ, बुलंदशहर, अलीगढ़, कानपुर, बनारस, प्रयागराज तक सैकड़ों गांन में कच्ची शराब की भट्टियों के धधकने की खबर आए दिन मीडिया रिपोर्ट्स में सामने आती रहती हैं। कच्ची शराब के अलावा तमाम लोग स्प्रिट से शराब बनाने का धंधा भी करते हैं। 

इसे भी पढ़ें: मथुरा: श्रीकृष्ण जन्मस्थान के बाद शाही ईदगाह में कम हुई लाउडस्पीकर की आवाज

पुलिस के अनुसार जिन शराब माफिया ने आत्मसमर्पण किया है, उनमें से 4 हिस्ट्रीशीटर अपराधी बताए जा रहे हैं। शाहजहांपुर के पुलिस अधीक्षक (एसपी)एस आनंद ने बताया कि खुटार थाना क्षेत्र के मेनिया गांव में पांच शराब माफिया रहते हैं, जो कच्ची शराब बनाने और बेचने का धंधा करते हैं। उन्होंने बताया कि पुलिस द्वारा जिले में लगातार मादक पदार्थों और अवैध शराब के विरुद्ध की जा रही ताबड़तोड़ कार्रवाई से शुक्रवार शाम हाथों में पोस्टर पकड़कर पांच लोगों ने थाना खुटार में थाना प्रभारी धनंजय सिंह के समक्ष आत्मसमर्पण किया है।





नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।