MP: तकिए और बैचमेट्स के साथ अश्लील हरकत करने के लिए सीनियर्स ने किया मजबूर, जूनियर्स के साथ रैगिंग का हैरान कर देने वाला मामला

RAGGING CASE
Prabhasakshi
निधि अविनाश । Jul 28, 2022 2:37PM
जुनियर्स छात्रों ने यूजीसी और एंटी रैगिंग कमेटी हेल्पलाइन पर फोन कर शिकायत में बताया कि उनके सीनियर्स ने उन्हें रैगिंग के नाम पर तकिए के साथ सेक्स करने और अपने साथी दोस्तों के साथ अश्लील हरकत करने के लिए मजबूर किया। जुनियर्स ने आगे बताया कि सीनियर उन्हें अपने फ्लैट पर बुलाते थे।

रैगिंग को लेकर देश में सख्त कानून होने के बावजूद मध्यप्रदेश के सबसे बड़े सरकारी कॉलेज से एक बड़ी ही हैरान कर देने वाली खबर सामने आ रही है। जानकारी के मुताबिक इंदौर के एमजीएम मेडिकल कॉलेज के सीनियर एमबीबीएस छात्रों ने जूनियर्स के साथ रैगिंग की हैं। जुनियर्स छात्रों ने यूजीसी और एंटी रैगिंग कमेटी हेल्पलाइन पर फोन कर शिकायत में बताया कि उनके सीनियर्स ने उन्हें रैगिंग के नाम पर तकिए के साथ सेक्स करने और अपने साथी दोस्तों के साथ अश्लील हरकत करने के लिए मजबूर किया। जुनियर्स ने आगे बताया कि सीनियर उन्हें अपने फ्लैट पर बुलाते थे और वहीं अप्राकृतिक सेक्स करने के लिए मजबूर करते थे। 

लड़कियों को भी अपशब्द कहने को करते थे मजबूर

जुनियर्स ने अपने सीनियर्स पर आरोप लगाए है कि वह लड़कियों को अपशब्द कहने के लिए मजबूर करते थे। इन सबकी जानकारी मिलने के बाद यूजीसी ने एमजीएम मेडिकल कॉलेज प्रशासन को संपर्क किया और तुरंत एक्शन लेने की बात कही। वहीं एंटी रैगिंग कमेटी की तरफ से सभी आरोपी छात्रों के खिलाफ एफआईआर दर्ज करा दी गई है। इंदौर पुलिस के अनुसार, सबसे पहले बयान जुनियर्स का लिया जाएगा। जुनियर्स के शिकायत के मुताबिक, छात्रों ने सीनियर्स की शिकायत अपने प्रोफेसर से भी किया लेकिन उन्होंने कोई भी कड़ा निर्देश नहीं लिया बल्कि सीनियर्स का सपोर्ट किया। आरोपियों की पहचान उजागर नहीं की गई है।

इसे भी पढ़ें: मुस्लिम युवाओं ने पेश की गंगा-जमुनी तहजीब की मिसाल, शिवलिंग पर चढ़ाया जल, भगवान भोले से मांगा यह आशीर्वाद

शिकायत करने वाले जुनियर्स को डर है कि अगर उन्होंने पहचान बताई तो सीनियर्स उनसे बदला लेंगे। पूरे मामले को लेकर यूजीसी ने दावा किया है कि जुनियर्स द्वारा लगाए गए शिकायत की सभी ऑडियो कॉल रिकॉर्डिंग और वॉट्सएप चैट के सबूत के तौर पर हैं। कुछ छात्रों ने यूजीसी को वीडियो भी भेजे हैं। स्थानीय पुलिस थाना प्रभारी तहजीब काजी के मुताबिक मेडिकल कॉलेज में सभी संबंधित छात्रों के बयान दर्ज किए जा रहे हैं। जल्द ही आरोपियों की पहचान कर ली जाएगी।

नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।

अन्य न्यूज़