महाराष्ट्र के ठाणे से जब्त किया गया 8000 किलोग्राम बीफ, कीमत आठ लाख; 2 गिरफ्तार

  •  प्रभासाक्षी न्यूज नेटवर्क
  •  सितंबर 27, 2021   14:37
महाराष्ट्र के ठाणे से जब्त किया गया 8000 किलोग्राम बीफ, कीमत आठ लाख; 2 गिरफ्तार

महाराष्ट्र में 8000 किलोग्राम बीफ जब्त किया गया। अधिकारी ने बताया कि रईस अहमद सलाम कुरैशी और अब्दुल अहमद नसीम खान नामक दो व्यक्तियों को गिरफ्तार किया गया और संबंधित प्रावधानों के तहत मामला दर्ज किया गया है। राज्य में गोहत्या और बीफ परिवहन पर प्रतिबंध है।

ठाणे। पुलिस ने महाराष्ट्र के ठाणे शहर में प्रतिबंधित पशु मांस की तस्करी के आरोप में दो लोगों को गिरफ्तार किया है और 8000 किलोग्राम बीफ जब्त किया है। पुलिस ने सोमवार को यह जानकारी दी। कलवा पुलिस थाने के एक अधिकारी ने बताया कि गुप्त सूचना के आधार पर पुलिस ने शनिवार को नासिक-मुंबई राजमार्ग पर खरेगांव टोल नाका पर एक टैंपो को रोका। उन्होंने बताया कि पुलिस को वाहन में बीफ मिला और पूछताछ के दौरान उन्हें पता चला कि मांस को पड़ोसी नासिक जिले के मालेगांव से मुंबई से सटे कुर्ला ले जाया जा रहा था। अधिकारी ने बताया कि मांस की कीमत लगभग आठ लाख रुपये है। उन्होंने बताया कि टैंपो भी जब्त कर लिया गया है।

इसे भी पढ़ें: ठाणे में आठ महीने तक 15 साल की किशोरी के साथ दरिंदे करते रहे सामूहिक दुष्कर्म, अभी तक 26 लोग गिरफ्तार

अधिकारी ने बताया कि रईस अहमद सलाम कुरैशी और अब्दुल अहमद नसीम खान नामक दो व्यक्तियों को गिरफ्तार किया गया और संबंधित प्रावधानों के तहत मामला दर्ज किया गया है। राज्य में गोहत्या और बीफ परिवहन पर प्रतिबंध है। पुलिस ने पिछले तीन-चार दिनों में शहर से 14 टन बीफ जब्त किया है और इस सिलसिले में पांच लोगों को गिरफ्तार किया है। विश्व हिंदू परिषद (विहिप) और भारतीय गोवंश रक्षण संवर्धन परिषद के एक प्रतिनिधिमंडल ने रविवार को ठाणे के पुलिस आयुक्त जय जीत सिंह से मुलाकात की और ठाणे तथा मुंबई में बीफ तस्करी के बढ़ते मामलों को उनके संज्ञान में लाया।





Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।


नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।