महाराष्ट्र सरकार ने आवश्यक सेवा कर्मियों के लिए एहतियाती दिशा-निर्देश जारी किए

  •  प्रभासाक्षी न्यूज नेटवर्क
  •  अप्रैल 26, 2020   09:45
महाराष्ट्र सरकार ने आवश्यक सेवा कर्मियों के लिए एहतियाती दिशा-निर्देश जारी किए

जन स्वास्थ्य विभाग ने परिपत्र जारी कर कहा कि राज्य में आवश्यक सेवाओं में लगे कुछ सरकारी कर्मचारी कोविड-19 से संक्रमित पाए गए हैं। इसमें कहा गया है कि कर्मचारियों को मास्क, दस्ताने ओर जरूरत पड़ने पर एप्रन पहनना चाहिए और सभी कार्यस्थलों पर साबुन, पानी और हैंड सैनेटाइजर होने चाहिए।

मुंबई। महाराष्ट्र सरकार ने अपने कुछ कर्मचारियों के कोरोना वायरस से संक्रमित पाए जाने के बाद एक परिपत्र जारी करके सामाजिक दूरी बनाकर रखने, साफ-सफाई और सुरक्षा उपकरणों के इस्तेमाल पर जोर दिया है। जन स्वास्थ्य विभाग ने परिपत्र जारी कर कहा कि राज्य में आवश्यक सेवाओं में लगे कुछ सरकारी कर्मचारी कोविड-19 से संक्रमित पाए गए हैं। इसमें कहा गया है कि कर्मचारियों को मास्क, दस्ताने ओर जरूरत पड़ने पर एप्रन पहनना चाहिए और सभी कार्यस्थलों पर साबुन, पानी और हैंड सैनेटाइजर (जिसमें कम से कम 60 प्रतिशत अल्कोहल हो) होने चाहिए। 

इसे भी पढ़ें: पुडुचेरी में 60 प्रतिशत से अधिक लाभार्थियों को निशुल्क चावल वितरित किए: किरण बेदी

परिपत्र के अनुसार, ‘‘अपना दैनिक कामकाज शुरू करने पहले अपने हाथ साबुन से कम से कम 20 सेकंड तक धोएं। उसके बाद दस्ताने पहनिए। अपना चेहरा, आंखें, नाक और मुंह को मत स्पर्श कीजिए। दस्तानों को जेब में रखने से बचिए।’’ इसमें कहा गया है कि अकसर छूए जाने वाली चीजें जैसे दरवाजों के हैंडल और नल आदि हर दो-तीन घंटे में एक प्रतिशत सोडियम हाइपोक्लोराइट मिश्रित द्रव की मदद से संक्रमण मुक्त किए जाएं। परिपत्र के मुताबिक दफ्तर में दो कर्मचारियों के बीच कम से कम एक मीटर की दूरी होनी चाहिए ओर मोबाइल फोन का इस्तेमाल करते समय स्पीकर मोड पर काम किया जाए। सर्कुलर में कहा गया है कि अगर दफ्तर में नहाने की सुविधा नहीं है तो घर पहुंचकर तत्काल साबुन से नहाइए। इसके अनुसार, ‘‘सभी अधिकारियों और कर्मचारियों को एक दूसरे के मोबाइल फोन, रुमाल, पानी की बोतलें, गिलास आदि इस्तेमाल नहीं करने चाहिए या पकड़ने नहीं चाहिए।





Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।


नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।

Prabhasakshi logoखबरें और भी हैं...

राष्ट्रीय

झरोखे से...