ममता बनर्जी ने दुआरे सरकार के बाद ‘पाड़ाय पाड़ाय समाधान’ नामक नयी पहल की घोषणा की

  •  प्रभासाक्षी न्यूज नेटवर्क
  •  दिसंबर 28, 2020   20:46
ममता बनर्जी ने दुआरे सरकार के बाद ‘पाड़ाय पाड़ाय समाधान’ नामक नयी पहल की घोषणा की

मुख्यमंत्री ने कहा कि यह कार्यक्रम दो जनवरी को शूरू होगा और 15 फरवरी तक चलेगा। बनर्जी ने यहां एक प्रशासनिक समीक्षा बैठक में कहा, ‘‘ आस-पड़ोस तक पहुंचने के विशिष्ट अभियान वाला यह कार्यक्रम बड़े बुनियादी ढांचा संबंधी समस्याओं का नहीं बल्कि निगम, स्थानीय या सेवा संबंधी दिक्कतों का समाधान करेगा।

बोलपुर। पश्चिम बंगाल सरकार के ‘दुआरे सरकार’ (यानी सरकार आपके द्वार) कार्यक्रम के काफी सफल रहने का दावा करते हुए मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने सोमवार को ‘पाड़ाय पाड़ाय समाधान’ नामक नयी पहल की घोषणा की जिसके तहत स्थानीय आस-पड़ोस की शिकायतों का समाधान किया जाएगा। मुख्यमंत्री ने कहा कि यह कार्यक्रम दो जनवरी को शूरू होगा और 15 फरवरी तक चलेगा। बनर्जी ने यहां एक प्रशासनिक समीक्षा बैठक में कहा, ‘‘ आस-पड़ोस तक पहुंचने के विशिष्ट अभियान वाला यह कार्यक्रम बड़े बुनियादी ढांचा संबंधी समस्याओं का नहीं बल्कि निगम, स्थानीय या सेवा संबंधी दिक्कतों का समाधान करेगा। यह दुआरे सरकार का पूरक होगा जो करोड़ों लोगों तक पहुंचा। यह नये साल का सौगात होगा। ’’

इसे भी पढ़ें: ममता बनर्जी बोलीं, केंद्र सरकार का विरोध करने पर अमर्त्य को बनाया गया निशाना

मुख्य सविव अल्पन बंदोपाध्याय ने कहा कि ‘‘दुआरे सरकार’ व्यक्ति उन्मुख कार्यक्रम है जबकि इस योजना में आसपड़ोस की समस्याओं का समाधान किया जाएगा। ‘‘पाड़ाय पाड़ाय समाधान’’ के लिए प्रधान सचिव और एक सचिव का कार्यबल नियुक्त किया गया है। उन्होंने कहा कि ‘दुआरे सरकार’ की भांति ‘पाड़ाय पाड़ाय समाधान’ समयसीमा तरीके से काम करेगी और आवेदक अपने आवेदन की स्थिति पर नजर रख पायेंगे।





Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।


नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।