TMC में शामिल हुए अशोक तंवर बोले, भाजपा को हरा सकती हैं ममता बनर्जी

TMC में शामिल हुए अशोक तंवर बोले, भाजपा को हरा सकती हैं ममता बनर्जी

टीएमसी में शामिल होने के बाद अशोक तंवर ने बताया कि आज देश में एकमात्र नेतृत्व ममता बनर्जी का है जो भाजपा को हरा सकती हैं। ममता बनर्जी ने बंगाल चुनाव में भाजपा को मज़बूत शिकस्त दी। विपक्ष को भी एक जुट होकर 2024 में भाजपा को हराने की ज़रूरत है।

नयी दिल्ली। हरियाणा प्रदेश कांग्रेस कमेटी के पूर्व अध्यक्ष अशोक तंवर ने तृणमूल कांग्रेस (टीएमसी) का दामन थाम लिया है। इस दौरान टीएमसी प्रमुख ममता बनर्जी भी मौजूद रहीं। टीएमसी में शामिल होने के बाद अशोक तंवर ने भाजपा पर निशाना साधा और कहा कि आज देश में एकमात्र नेतृत्व ममता बनर्जी का है जो भाजपा को हरा सकती हैं। 

इसे भी पढ़ें: भाजपा नेता शुभेंदु अधिकारी के काफिले पर 70 टीएमसी समर्थकों ने किया हमला, जान से मारने की दी धमकी 

समाचार एजेंसी एएनआई के मुताबिक, अशोक तंवर ने बताया कि आज देश में एकमात्र नेतृत्व ममता बनर्जी का है जो भाजपा को हरा सकती हैं। ममता बनर्जी ने बंगाल चुनाव में भाजपा को मज़बूत शिकस्त दी। विपक्ष को भी एक जुट होकर 2024 में भाजपा को हराने की ज़रूरत है।

TMC का हिस्सा बनकर खुश हैं अशोक तंवर 

वहीं अशोक तंवर ने एक ट्वीट में लिखा कि टीएमसी का हिस्सा बनकर खुशी हुई। भारतीय राजनीति आज एक दुर्लभ चौराहे पर है- एक तरफ हम जीत देख रहे हैं, दूसरी तरफ गरीबों की त्रासदी जारी है। असली मुद्दे दबते जा रहे हैं, हमें एक नई राजनीति की जरूरत है!

उन्होंने कहा कि मुझे ममता दीदी के साथ एक स्वाभाविक आत्मीयता दिखाई देती है। हम दोनों ने संघर्ष के एक ही रास्ते पर यात्रा की है और हमेशा कमजोर आवाजों के लिए खड़े रहे। आज उनका आशीर्वाद पाकर मैं अभिभूत हूं। 

इसे भी पढ़ें: गोवा कांग्रेस ने टीएमसी और प्रशांत किशोर के आईपीएसी पर साधा निशाना 

अशोक तंवर के अलावा कांग्रेस नेता कीर्ति आजाद और जनता दल (यूनाइटेड) के पूर्व महासचिव पवन वर्मा ने भी टीएमसी की सदस्यता ग्रहण की है। तीनों नेताओं ने तृणमूल कांग्रेस की प्रमुख और पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी की मौजूदगी में पार्टी की सदस्यता ग्रहण की।





नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।