ममता पिछड़ी जातियों, अल्पसंख्यक छात्रों की छात्रवृत्ति रोके जाने को लेकर केंद्र पर बरसीं

Mamata
प्रतिरूप फोटो
ANI
बनर्जी ने ‘मेधाश्री’ छात्रवृत्ति योजना की शुरुआत करते हुए कहा कि उनकी सरकार छात्रों के हितों की रक्षा के लिए अपनी ओर से हरसंभव प्रयास करेगी। ‘मेधाश्री’ छात्रवृत्ति योजना के तहत पिछड़े और अल्पसंख्यक समुदाय के छात्रों को प्रतिवर्ष 800 रुपये की अनुदान राशि प्रदान की जाएगी, जिसे लगभग 2.63 लाख छात्र लाभान्वित होंगे।

पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने पिछड़ी जातियों और अल्पसंख्यक समुदाय के छात्रों के लिए छात्रवृत्ति बंद करने के भाजपा-नीत केंद्र सरकार के कदम की बृहस्पतिवार को आलोचना की और कहा कि उनकी सरकार ऐसे छात्रों को सहायता प्रदान करेगी। बनर्जी ने ‘मेधाश्री’ छात्रवृत्ति योजना की शुरुआत करते हुए कहा कि उनकी सरकार छात्रों के हितों की रक्षा के लिए अपनी ओर से हरसंभव प्रयास करेगी। ‘मेधाश्री’ छात्रवृत्ति योजना के तहत पिछड़े और अल्पसंख्यक समुदाय के छात्रों को प्रतिवर्ष 800 रुपये की अनुदान राशि प्रदान की जाएगी, जिसे लगभग 2.63 लाख छात्र लाभान्वित होंगे।

मुख्यमंत्री ने कहा कि उनकी सरकार ने अन्य पिछड़ा वर्ग (ओबीसी) के लिए 17 फीसदी आरक्षण लागू किया है। प्रशासनिक समीक्षा बैठक के दौरान मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने कहा, ‘‘केंद्र सरकार ने ओबीसी और अन्य अल्पसंख्यक छात्रों की छात्रवृत्ति बंद कर दी है, लेकिन चिंता मत कीजिए। हम उन्हें समान अनुदान राशि प्रदान करेंगे।’’ तृणमूल कांग्रेस प्रमुख ने यह भी कहा कि पश्चिम बंगाल के लोगों को बांटने का प्रयास किया जा रहा है।

उन्होंने कहा, ‘‘वे (भाजपा) लोगों बांटने के लिए जो कुछ भी कह रहे हैं, उस पर ध्यान न दें। हमें एकजुट समाज बनाने पर ध्यान केंद्रित करना चाहिए।’’ बनर्जी ने कहा कि राज्य भर में लगभग 3.83 करोड़ छात्रों को ऐक्यश्री योजना के तहत छात्रवृत्ति मिली है, जबकि 40,000 से अधिक लाभार्थियों को छात्र क्रेडिट कार्ड मिले हैं। उन्होंने केंद्र की ओर से कई योजनाओं के लिए धन जारी नहीं होने का आरोप लगाते हुए कहा, ‘‘हम अपनी देखभाल खुद करेंगे। हम हाथ नहीं फैलाएंगे। केंद्रीय नेता पश्चिम बंगाल आते हैं और बड़े-बड़े दावे करते हैं, लेकिन चुनाव समाप्त होने के बाद वे नजर नहीं आते हैं।

Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।


अन्य न्यूज़