सुभाष चंद्र बोस की जयंती पर ममता बनर्जी ने कसा भाजपा पर तंज, कहा- योजना आयोग को खत्म क्यों किया

  •  प्रभासाक्षी न्यूज नेटवर्क
  •  जनवरी 23, 2021   15:17
सुभाष चंद्र बोस की जयंती पर ममता बनर्जी ने कसा भाजपा पर तंज, कहा- योजना आयोग को खत्म क्यों किया

पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने योजना आयोग को खत्म करने के लिए शनिवार को केंद्र की आलोचना की। उनके मुताबिक, इस आयोग की परिकल्पना नेताजी सुभाष चंद्र बोस ने की थी।

कोलकाता। पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने योजना आयोग को खत्म करने के लिए शनिवार को केंद्र की आलोचना की। उनके मुताबिक, इस आयोग की परिकल्पना नेताजी सुभाष चंद्र बोस ने की थी। नेताजी सुभाष चंद्र की 125वीं जयंती पर यहां स्थित नेताजी भवन पर आयोजित कार्यक्रम को संबोधित करते हुए बनर्जी ने बोस को ऐसी हस्ती बताया जिन्होंने देश के सभी समुदायों की एकता की वकालत की। उन्होंने नेताजी की जयंती 23 जनवरी को राष्ट्रीय अवकाश घोषित करने की मांग की।

इसे भी पढ़ें: ठंड का प्रकोप जारी, राजस्थान के कई इलाकों में कड़ाके की सर्दी और कुहरे का अनुमान

बनर्जी ने अपने संक्षिप्त भाषण में कहा, ‘‘क्यों योजना आयोग को भंग किया गया जिसकी परिकल्पना नेताजी ने आजाद भारत के लिए की थी?क्यों नेताजी की जयंती पर राष्ट्रीय अवकाश घोषित करने की हमारी सरकार की मांग अब भी लंबित है? ’’ उल्लेखनीय है कि वर्ष 2014 में नरेंद्र मोदी सरकार ने योजना आयोग को भंग कर उसके स्थान पर नीति आयोग का गठन किया था।

इसे भी पढ़ें: रिम्स ने बेहतर इलाज के लिए लालू यादव को दिल्ली एम्स भेजने का फैसला किया गया

बनर्जी ने कहा, ‘‘हम केवल चुनाव से पहले नेताजी को याद नहीं करते। वह हमारे दिलों में 365 दिन रहते हैं। हम उनके परिवार के संपर्क में हैं।’’ उन्होंने कहा कि रवींद्र नाथ टैगोर ने नेताजी को ‘देशनायक’ बताया था। बनर्जी ने कहा, ‘‘हम उनकी जयंती को ‘देशनायक दिवस’ के रूप में मना रहे हैं।





Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।


नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।