त्रिपुरा को मिलेगा 'माणिक', बिप्लब देव बन सकते हैं प्रदेश अध्यक्ष

त्रिपुरा को मिलेगा 'माणिक', बिप्लब देव बन सकते हैं प्रदेश अध्यक्ष
ANI

त्रिपुरा के पूर्व मुख्यमंत्री बिप्लब कुमार देब ने माणिक साहा को सम्मानित किया। केंद्रीय मंत्री भूपेंद्र यादव ने कहा कि माणिक साहा को त्रिपुरा भाजपा विधायक दल का नेता चुने जाने की बहुत-बहुत बधाई। मुझे पूर्ण विश्वास है कि आदरणीय प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के मार्गदर्शन और आपके नेतृत्व में त्रिपुरा विकास की नई ऊंचाइयों पर पहुँचेगा।

प्रधानमंत्री मोदी ने त्रिपुरा के लोगों को एक ज्योतिषीय सलाह दी थी। अब आपको माणिक नहीं चाहिए, माणिक से मुक्ति ले लो। अब आपको जरूरत है हीरे की। लोगों ने प्रधानमंत्री की वो सलाह मान ली और माणिक को उतार फेंका। लेकिन महज चार साल बाद एक बार फिर माणिक की त्रिपुरा के सीएम पद पर ताजपोशी होने जा रही है। लेकिन लेफ्ट के माणिक सरकार नहीं बल्कि बीजेपी के माणिक साहा की। माणिक साहा त्रिपुरा के नए मुख्यमंत्री होंगे। सूत्रों के अनुसार कहा जा रहा है कि बिप्लब देव को प्रदेश अध्यक्ष बनाया जा सकता है। 

इसे भी पढ़ें: महाभारत काल में भी इंटरनेट, युवाओं को पान की दुकान खोलने की नसीहत, बिप्लब देव के वो 5 बयान जिसने कई बार कराई पार्टी की फजीहत

त्रिपुरा के पूर्व मुख्यमंत्री बिप्लब कुमार देब ने माणिक साहा को सम्मानित किया। केंद्रीय मंत्री भूपेंद्र यादव ने कहा कि माणिक साहा को त्रिपुरा भाजपा विधायक दल का नेता चुने जाने की बहुत-बहुत बधाई। मुझे पूर्ण विश्वास है कि आदरणीय प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के मार्गदर्शन और आपके नेतृत्व में त्रिपुरा विकास की नई ऊंचाइयों पर पहुँचेगा।

इसे भी पढ़ें: बिप्लब देब के इस्तीफे के बाद त्रिपुरा को मिलेगा नया CM, विधायक दल की बैठक में होगा नए नेता का चयन

 गौरतलब है कि इससे पहले त्रिपुरा के मुख्यमंत्री बिप्लव कुमार देब ने शनिवार को कहा कि उन्होंने अपना इस्तीफा राज्यपाल एस एन आर्य को सौंप दिया है। देब ने यह घोषणा यहां राजभवन में राज्यपाल से मुलाकात के बाद की। देब ने संवाददाताओं से कहा, ‘‘पार्टी सबसे ऊपर है। मैं भाजपा का निष्ठावान कार्यकर्ता हूं। मुझे उम्मीद है कि जो जिम्मेदारी दी गई, उसके साथ मैंने न्याय किया फिर चाहे राज्य भाजपा इकाई के अध्यक्ष का पद हो या त्रिपुरा के मुख्यमंत्री पद की जिम्मेदारी।





नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।