मणिपुर: विधानसभा चुनाव के पहले चरण में मुख्यमंत्री बीरेन सिंह ने इंफाल में किया मतदान

  •  प्रभासाक्षी न्यूज नेटवर्क
  •  फरवरी 28, 2022   11:12
मणिपुर: विधानसभा चुनाव के पहले चरण में मुख्यमंत्री बीरेन सिंह ने इंफाल में किया मतदान

मणिपुर के राज्यपाल और मुख्यमंत्री ने मतदान किया। इम्फाल पश्चिम जिले के सगोलबंद निर्वाचन क्षेत्र में टीजी उच्च माध्यमिक विद्यालय में बने मतदान केन्द्र में वोट डालने के बाद राज्यपाल गणेशन ने मणिपुर के सभी पात्र मतदाताओं से अपने मताधिकार का इस्तेमाल करने की अपील की।

इम्फाल। मणिपुर विधानसभा चुनाव के लिए सोमवार को पहले चरण का मतदान शुरू होने के करीब आधे घंटे के भीतर राज्यपाल ला गणेशन और मुख्यमंत्री एन बीरेन सिंह ने अपने-अपने निर्वाचन क्षेत्रों में वोट डाला। इम्फाल पश्चिम जिले के सगोलबंद निर्वाचन क्षेत्र में टीजी उच्च माध्यमिक विद्यालय में बने मतदान केन्द्र में वोट डालने के बाद राज्यपाल गणेशन ने मणिपुर के सभी पात्र मतदाताओं से अपने मताधिकार का इस्तेमाल करने की अपील की। उन्होंने कहा, ‘‘ हमारा देश लोकतांत्रिक है और चुनाव लोकतंत्र का प्रतीक है। निर्वाचन अधिकारियों ने अच्छी व्यवस्था की है।’’ गणेशन को सगोलबंद सीट से मतदाता बनाया गया है। उन्हें इस महीने की शुरुआत में सीईओ द्वारा ईपीआईसी (चुनावी फोटो पहचान पत्र) कार्ड सौंपा गया था। इससे पहले वह चेन्नई के थ्यगाराया नगर विधानसभा क्षेत्र के मतदाता थे।

इसे भी पढ़ें: मणिपुर में पहले चरण का मतदान जारी, सुबह 9.30 बजे तक 8.94 फीसदी वोटिंग

मुख्यमंत्री सिंह और उनकी पत्नी ने इम्फाल पूर्वी जिले के हिंगांग निर्वाचन क्षेत्र में एक ‘मॉडल’ मतदान केन्द्र में वोट डाला। मुख्यमंत्री ने कहा, ‘‘ मैं सभी मतदाताओं से वोट डालने और शांति बनाए रखने की अपील करता हूं।’’ मणिपुर विधानसभा के लिए सुबह सात बजे पहले चरण का मतदान शुरू हुआ था। कोविड-19 संबंधी दिशानिर्देशों का पालन करते हुए, कड़ी सुरक्षा के बीच पांच जिलों की 38 सीटों के लिए मतदान हो रहा है। मतदान शाम चार बजे तक चलेगा। दोपहर तीन से शाम चार बजे तक कोविड-19 के मरीज मतदान करेंगे। दूसरे चरण में 22 सीटों के लिये मतदान पांच मार्च को होगा और मतगणना 10 मार्च को होगी।





Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।


नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।