प्रधानमंत्री की कई योजनाएं ‘रेवड़ी कल्चर’ की श्रेणी में आती हैं : अशोक गहलोत

Ashok Gehlot
ANI
राजस्थान के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने बुधवार को कहा कि उन्हें समझ नहीं आ रहा है कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने ‘रेवड़ी कल्चर’ की बात क्यों की जबकि उनकी सरकार की ही कई योजनाएं इस श्रेणी में आती हैं।

नयी दिल्ली। राजस्थान के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने बुधवार को कहा कि उन्हें समझ नहीं आ रहा है कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने ‘रेवड़ी कल्चर’ की बात क्यों की जबकि उनकी सरकार की ही कई योजनाएं इस श्रेणी में आती हैं। उल्लेखनीय है कि प्रधानमंत्री मोदी ने पिछले दिनों कुछ राजनीतिक दलों द्वारा ‘‘रेवड़ी कल्चर’’ को बढ़ावा देने का मुद्दा उठाया था और कहा था कि इससे विकास बाधित होता है। इसके बाद देश में इस मुद्दे पर एक नयी राजनीतिक बहस छिड़ गई।

इसे भी पढ़ें: मात्र 30 हजार के लिए आतंकवादी बना शख्स, पाकिस्तानी सेना उठा रही है लोगों की मजबूरियों का जमकर फायदा

गहलोत ने यहां राजस्थान सरकार के ‘इन्वेस्टर समिट’ से संबंधित कार्यक्रम से इतर संवाददाताओं से कहा, ‘‘प्रधानमंत्री ने पता नहीं क्यों ‘रेवड़ी कल्चर’ की बात बोल दी। उनकी कई योजनाएं इसी श्रेणी में आती हैं... मैं समझता हूं कि उच्चतम न्यायालय भी इस पर विचार कर रहा है।’’ उन्होंने कहा कि चुनाव के समय जो चीजें बांटते हैं या बड़े-बड़े वादे करते हैं वो गलत है, लेकिन सरकार में रहकर बेहतरीन योजनाएं चलाना उचित है। गहलोत ने कहा कि बेहतरीन सरकारी योजनाओं के मामले में अदालत को भी दखल नहीं देना चाहिए।

इसे भी पढ़ें: अमेरिकी राष्ट्रपति जो बाइडन की पत्नी जिल दोबारा कोरोना वायरस से संक्रमित

उन्होंने दावा किया कि देश में इस समय ‘‘ईडी, सीबीआई और आयकर’’ का राज चल रहा है। मुख्यमंत्री ने कहा, ‘‘राहुल बजाज एकमात्र उद्योगपति थे जिन्होंने इनको (सरकार को) खरी-खोटी सुनाई। पूरा देश उनका कायल हो गया था। कोई दूसरा हिम्मत नहीं कर रहा है क्योंकि देश में ईडी, सीबीआई और आयकर का राज चल रहा है।’’ उन्होंने कहा, ‘‘अब तो सरकारें गिराई जा रही हैं और फिर सरकारें बनाई जा रही हैं... यह मालूम चल जाए कि कौन-कौन उद्योगपति अशोक गहलोत की बैठक में गया था तो पता चला कि मुसीबत खड़ी हो गई।

Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।


अन्य न्यूज़