गिरिडीह में नक्सलियों ने रेल लाइन उड़ाई, छह घंटे बाद परिचालन शुरू

Railways Tracks
पूर्व मध्य रेलवे के वरिष्ठ जनसंपर्क अधिकारी राजेश कुमार ने बताया कि विस्फोट की सूचना मिलने के बाद नयी दिल्ली-भुवनेश्वर राजधानी, नयी दिल्ली-सियाल्दह राजधानी, नयी दिल्ली-हावड़ा राजधानी समेत बड़ी संख्या में ट्रेनों को मार्ग परिवर्तन कर के चलाया गया।

गिरिडीह| भाकपा माओवादी के उग्रवादियों ने 24 घंटे के अपने बिहार-झारखंड बंद के दौरान बीती रात लगभग साढ़े बारह बजे हावड़ा-नईदिल्ली मार्ग पर धनबाद-गया रेलखंड में विस्फोट कर रेल लाइन को क्षतिग्रस्त कर दिया जिससे करीब छह घंटे तक रेल कापरिचालन बंद रहा और आज सुबह लगभग साढ़े छह बजे रेल यातायात शुरू हो गया।

रेलवे सुरक्षा बल के वरिष्ठ कमांडेंट हेमंत कुमार ने बताया कि चिचाकी और चौधरी बांध रेलवे स्टेशन के बीच आधी रात के बाद लगभग 12:30 बजे विस्फोट की सूचना पर रेल परिचालन को रोक दिया गया और आज ट्रैक को ठीक करने के बाद सुबह साढ़े छह बजे रेल परिचालन बहाल किया गया।

हेमंत ने बताया, ‘‘विस्फोट के कारण पटरियों का पैनल क्लिप टूट गया था। नक्सलियों ने अप रेल लाइन में विस्फोट किया था। रेल पटरी को विशेष नुकसान नहीं हुआ था।

आज नक्सलियों ने झारखंड और बिहार में 24 घंटे का बंद किया है।’’ पुलिस अधीक्षक अमित रेणु रात में ही घटनास्थल पर पहुंच गए थे और उन्होंने अपने अधीनस्थ अधिकारियों को मामले की जांच के निर्देश दिए हैं। इस घटना के बाद नई दिल्ली हावड़ा लाइन पर एक दर्जन ट्रेनों को जहां-तहां रोकना पड़ा और अनेक राजधानियों समेत दर्जनों ट्रेनों का मार्ग परिवर्तन करना पड़ा। नक्सली शीर्ष नक्सली कमांडर प्रशान्त बोस और उसकी पत्नी शीला की गिरफ्तारी का विरोध कर रहे हैं।

पूर्व मध्य रेलवे के वरिष्ठ जनसंपर्क अधिकारी राजेश कुमार ने बताया कि विस्फोट की सूचना मिलने के बाद नयी दिल्ली-भुवनेश्वर राजधानी, नयी दिल्ली-सियाल्दह राजधानी, नयी दिल्ली-हावड़ा राजधानी समेत बड़ी संख्या में ट्रेनों को मार्ग परिवर्तन कर के चलाया गया। उन्होंने बताया कि आनंद विहार-पुरी ट्रेन का परिचालन बुधवार को बदले मार्ग से किया गया लेकिन अब रेलवे लाइन ठीक कर ली गयी है लिहाजा आज की यह ट्रेन अपने निर्धारित मार्ग से ही चलेगी।

माओवादियों द्वारा रेलवे लाइन पर किया गया विस्फोट सरिया थाना क्षेत्र में आता है और इसी इलाके में माओवादियों ने तीन दिनों पूर्व दो मोबाइल टावरों को भी उड़ा दिया था।

Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।


नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।

अन्य न्यूज़