चीन-पाकिस्तान की क्यों मुरीद हुईं महबूबा मुफ्ती? PM मोदी को दी ये चुनौती

PM Modi
creative common
अभिनय आकाश । Jul 28, 2022 7:15PM
महबूबा मुफ्ती ने बीजेपी के हर घर झंडा फहराने की मुहिम को लेकर भी निशाना साधा है। उन्होंने इसके साथ ही पीएम मोदी को चुनौती देते हुए कहा कि अगर आप में दम है तो चीन की ओर से अवैध रूप से कब्जा की गई जमीन के हिस्से में तिरंगा फहराने की हिम्मत करें।

पीडीपी प्रमुख महबूबा मुफ्ती का पाकिस्तान प्रेम एक बार फिर से सामने आया है। इसके साथ ही उन्होंने मोदी सरकार से चीन के अवैध कब्जे वाली जमीन पर तिरंगा फहराने की चुनौती भी दी है। मुफ्ती ने कहा कि जम्मू कश्मीर को आप जहां चाहो झंडा लगा सकते हो। इसको जेल बना दिया है आपने। हमारे कश्मीरी पंडितों की बात देखिए। आपने कहा था कि 370 हटने के बाद सब ठीक हो जाएगा। उनका रास्ता खुलवाइए शारदा पीठ के लिए। महबूबा ने कहा कि करतारपुर तो खुल गया अब शारदा पीठ खुलवाइए। 

इसे भी पढ़ें: कभी PM को बताया घुसपैठिया तो कभी कश्मीर पर दिया विवादित बयान, अपनी बातों से पार्टी की फजीहत कराना अधीर रंजन की सबसे पसंदीदा गलती है

महबूबा मुफ्ती ने कहा कि आपने हमारे हजारों नौजवानों को शक के आधार पर जेल में बंद कर दिए। इंसान का दिल रखकर महसूस कीजिए उनके घरों के क्या हालात होंगे जिनके नौजवानों को आपने तिहाड़, आगरा व विभिन्न जेलों में कैद किए हुए हैं। मुफ्ती ने पाकिस्तान अधिकृत कश्मीर की तारीफ की है। महबूबा ने कहा कि जिस तरह पाकिस्तान और चीन दूसरे कश्मीर को बाहरी दुनिया से जोड़ रहे हैं उसी तरह प्रधानमंत्री मोदी भी हमारे कश्मीर के रिश्ते अंतरराष्ट्रीय स्तर पर जोड़ें। मुफ्ती ने कहा कि नरेंद्र मोदी लुहार न बनें जो सिर्फ ठोंकता है, बल्कि सुनार बनें जो तराशता है।

इसे भी पढ़ें: जम्मू कश्मीर में 2022 में पीएसए के तहत मीडिया संगठनों से जुड़े दो लोगों को हिरासत में लिया गया

महबूबा मुफ्ती ने बीजेपी के हर घर झंडा फहराने की मुहिम को लेकर भी निशाना साधा है। उन्होंने इसके साथ ही पीएम मोदी को चुनौती देते हुए कहा कि अगर आप में दम है तो चीन की ओर से अवैध रूप से कब्जा की गई जमीन के हिस्से में तिरंगा फहराने की हिम्मत करें। महबूबा मुफ्ती ने कहा कि कश्मीर घाटी में लोगों को तिरंगा फहराने के लिए मजबूर करने से कुछ हासिल नहीं होगा।  

 

नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।

अन्य न्यूज़