इराक में दो सैन्य ठिकानों पर मिसाइल हमला,अमेरिकी गठबंधन वाली सेना को बनाया गया निशाना

  •  प्रभासाक्षी न्यूज नेटवर्क
  •  जून 10, 2021   10:52
इराक में दो सैन्य ठिकानों पर मिसाइल हमला,अमेरिकी गठबंधन वाली सेना को बनाया गया निशाना

इराक में दो सैन्य ठिकानों को निशाना बनाकर कई मिसाइलें दागी गईं, जहां पर अमेरिका के नेतृत्व वाली गठबंधन सेना और अनुबंध पर काम करने वाले विदेशी कर्मी रहते हैं। इराक के सुरक्षा तंत्र से जुड़े अधिकारियों और सेना ने यह जानकारी दी।

बगदाद। इराक में दो सैन्य ठिकानों को निशाना बनाकर कई मिसाइलें दागी गईं, जहां पर अमेरिका के नेतृत्व वाली गठबंधन सेना और अनुबंध पर काम करने वाले विदेशी कर्मी रहते हैं। इराक के सुरक्षा तंत्र से जुड़े अधिकारियों और सेना ने यह जानकारी दी। इराकी सेना ने एक बयान में बताया कि तीन रॉकेट उत्तरी बगदाद में बलाद एयरबेस को निशाना बनाकर बुधवार को दागे गए, हालांकि जानमाल का कोई नुकसान नहीं हुआ है। यहां अनुबंध पर काम करने वाले विदेशी कर्मी रहते हैं। इराक के सुरक्षा तंत्र से जुड़े दो अधिकारियों ने बताया कि इसके कुछ घंटे बाद बगदाद हवाईअड्डे के पास स्थित एक सैन्य अड्डे पर एक मिसाइल आकर गिरी।

इसे भी पढ़ें: वेस्ट बैंक में गोलीबारी में दो फलस्तीनी अधिकारियों के मारे जाने की खबर

हालांकि अभी यह स्पष्ट नहीं है कि विस्फोट रॉकेट से हुआ या ड्रोन हमले के कारण। एक अधिकारी ने बताया कि उन्होंने दो रॉकेट की आवाज सुनी, वहीं दूसरे ने कहा कि प्रारंभिक निष्कर्षों से संकेत मिलता है कि यह एक ड्रोन हमला था और गठबंधन सेना के एक ट्रेलर में इस हमले के कारण आग लग गई।

इसे भी पढ़ें: असम राज्य बोर्ड की 12वीं कक्षा की परीक्षा जुलाई-अगस्त में होगी, संक्रमण के 3,751 नए मामले

हादसे में कोई हताहत नहीं हुआ है। हमले की किसी ने जिम्मेदारी नहीं ली है, लेकिन अमेरिकी अधिकारी पूर्व में कई बार ईरान समर्थित इराकी विद्रोही गुटों पर ऐसे हमले करने का आरोप लगा चुके हैं।





Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।


नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।