बसपा से कांग्रेस में आए विधायक पहुंचे दिल्ली

  •  प्रभासाक्षी न्यूज नेटवर्क
  •  सितंबर 30, 2021   08:31
बसपा से कांग्रेस में आए विधायक पहुंचे दिल्ली
प्रतिरूप फोटो

राजस्थान विधान सभा चुनाव में संदीप यादव, वाजिब अली, दीपचंद खेरिया, लखन मीणा, जोगेंद्र अवाना और राजेंद्र गुढ़ा ने 2018 विधानसभा चुनाव बसपा के टिकट पर जीता था। ये सभी विधायक सितंबर 2019 में बसपा छोड़कर कांग्रेस में शामिल हो गये थे।

राजस्थान में बहुजन समाज पार्टी (बसपा) से कांग्रेस में आए छह में से चार विधायक बुधवार रात दिल्ली पहुंचे। विधायक वाजिब अली ने विधायकों के दिल्ली जाने की पुष्टि की।

अली ने कहा कि ये विधायक उच्चतम न्यायालय द्वारा बसपा से कांग्रेस में शामिल हुए छह विधायकों को दलबदल कानून के तहत जवाब मांगे जाने के मामले पर वकीलों से चर्चा करेंगे।

 

इसे भी पढ़ें: छत्तीसगढ़ से कांग्रेस के कई विधायक एक बार फिर दिल्ली में, राज्य में चर्चा का दौर

 

राहुल गांधी सहित कांग्रेस आलाकमान से मुलाकात के सवाल पर वाजिब अली ने कहा कि अभी यह कहना जल्दबाजी होगा लेकिन दिल्ली आए हैं तो सभी विकल्प खुले हैं। वाजिब अली के साथ-साथ विधायक राजेंद्र गुढ़ा, लाखन सिंह और संदीप यादव दिल्‍ली पहुंचे हैं। वहीं, एक अन्य विधायक जोगेंद्र अवाना बृहस्पतिवार को दिल्ली जा सकते हैं। विधायक दीपचंद खेरिया तबीयत ठीक नहीं होने के कारण इनके साथ नहीं गए हैं।

उल्लेखनीय है कि संदीप यादव, वाजिब अली, दीपचंद खेरिया, लखन मीणा, जोगेंद्र अवाना और राजेंद्र गुढ़ा ने 2018 विधानसभा चुनाव बसपा के टिकट पर जीता था। ये सभी विधायक सितंबर 2019 में बसपा छोड़कर कांग्रेस में शामिल हो गये थे। इसे दल-बदल विरोधी कानून के तहत उच्चतम न्यायालय में चुनौती दी गई है। उच्चतम न्यायालय ने हाल ही में इन विधायकों से इस मामले में अपना अंतिम जवाब दाखिल करने को कहा है।

इसे भी पढ़ें: बघेल ने किया ​मीडिया को लेकर ट्वीट, भाजपा ने कहा माफी मांगें मुख्यमंत्री





Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।


नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।