NPA के 12 लाख करोड़ तक पहुंचने के लिए मोदी सरकार जिम्मेदार: कांग्रेस

By प्रभासाक्षी न्यूज नेटवर्क | Publish Date: Sep 12 2018 8:56AM
NPA के 12 लाख करोड़ तक पहुंचने के लिए मोदी सरकार जिम्मेदार: कांग्रेस

कांग्रेस ने डूबे हुए कर्ज के संदर्भ में भारतीय रिजर्व बैंक के पूर्व गवर्नर रघुराम राजन की राय को लेकर सरकार पर निशाना साधा और आरोप लगाया कि एनपीए के 12 लाख करोड़ रुपये तक पहुंचने के लिए नरेंद्र मोदी सरकार जिम्मेदार है।

नयी दिल्ली। कांग्रेस ने डूबे हुए कर्ज के संदर्भ में भारतीय रिजर्व बैंक के पूर्व गवर्नर रघुराम राजन की राय को लेकर सरकार पर निशाना साधा और आरोप लगाया कि एनपीए के 12 लाख करोड़ रुपये तक पहुंचने के लिए नरेंद्र मोदी सरकार जिम्मेदार है। पार्टी के मुख्य प्रवक्ता रणदीप सुरजेवाला ने संवाददाताओं से कहा, ‘रघुराम राजन ने कहा है कि 2016 में उन्होंने बकायदा एक ‘फ्रॉड रिपोर्टिंग और मॉनीटरिंग अथॉरिटी’ बनाई थी। प्रधानमंत्री कार्यालय को सब भगोड़ों के नाम भेजे थे, पर प्रधानमंत्री कार्यालय ने कुछ नहीं किया।’

उन्होंने कहा, ‘प्रधानमंत्री कार्यालय बताए कि उन्होंने भगोडों के खिलाफ कार्यवाही क्यों नहीं की?’ सुरजेवाला ने कहा, ‘2014 में एनपीए 2,83,000 करोड़ रुपये था और यह नियंत्रण के बाहर वाली स्थिति नहीं थी। मोदी सरकार के चार वर्षों में यह बढ़कर 12 लाख करोड़ रुपये हो गया। 2,83,000 करोड़ रुपये के एनपीए की जिम्मेदारी संप्रग सरकार की बनती है, लेकिन 9,17,000 करोड़ रुपये की जिम्मेदार मोदी सरकार की है। क्या यह जिम्मेदारी प्रधानमंत्री स्वीकारेंगे?’

दरअसल, भारतीय रिजर्व बैंक के पूर्व गवर्नर रघुराम राजन का कहना है कि बैंक अधिकारियों के अति उत्साह, सरकार की निर्णय लेने की प्रक्रिया में सुस्ती तथा आर्थिक वृद्धि दर में नरमी डूबे कर्ज के बढ़ने की प्रमुख वजह है। राजन ने एक संसदीय समिति को दिए नोट में यह राय व्यक्त की है।

रहना है हर खबर से अपडेट तो तुरंत डाउनलोड करें प्रभासाक्षी एंड्रॉयड ऐप


Related Story

Related Video