सुरजेवाला ने मोदी पर कसा तंज, कहा- पाकिस्तान को लव लेटर लिखना बंद करें

  •  प्रभासाक्षी न्यूज नेटवर्क
  •  मार्च 23, 2019   14:10
सुरजेवाला ने मोदी पर कसा तंज, कहा- पाकिस्तान को लव लेटर लिखना बंद करें

कांग्रेस के मुख्य प्रवक्ता रणदीप सुरजेवाला ने कहा कि श्रीमान 56 साड़ी-शॉल-पाक बर्थडे यात्रा-आईएसआई को पठानकोट बुलाने के लिए मशहूर हैं।

नयी दिल्ली। कांग्रेस ने पाकिस्तान के राष्ट्रीय दिवस के मौके पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी द्वारा शुभकामनाएं भेजे जाने से जुड़ी खबरों को लेकर शनिवार को उन पर तीखा हमला बोला और कहा कि मोदी जी को ये लव लेटर लिखना बंद करना चाहिए। पार्टी के मुख्य प्रवक्ता रणदीप सुरजेवाला ने ट्वीट कर कहा कि श्रीमान 56 साड़ी-शॉल-पाक बर्थडे यात्रा-आईएसआई को पठानकोट बुलाने के लिए मशहूर हैं। पर अब स्वयंभू चौकीदार ने इमरान खान को लिखे पत्र को चोरी-छुपे देश को नहीं बताया व पाक प्रायोजित आतंकवाद के बारे में एक शब्द नहीं कहा। 

इसे भी पढ़ें: कांग्रेस ने छत्तीसगढ़ में चार लोकसभा सीटों पर उम्मीदवारों की घोषणा की

उन्होंने दावा किया कि झूठी छाती-थपथपाना व आँखें दिखाना जनता व मीडिया के लिए छलावा है। सुरजेवाला ने प्रधानमंत्री मोदी के एक साक्षात्कार के अंश का वीडियो शेयर करते हुए कहा कि मोदी जी, पाकिस्तान को ये लव लेटर लिखना बंद करना चाहिए। गौरतलब है कि पाकिस्तानी प्रधानमंत्री इमरान खान ने शुक्रवार को दावा किया कि प्रधानमंत्री मोदी का संदेश मिला है। इसमें कहा गया है कि मैं पाकिस्तान के राष्ट्रीय दिवस के मौके पर अपनी शुभकामनाएं पाकिस्तान की जनता को देता हूं। 

इसे भी पढ़ें: कांग्रेस ने जारी की 34 उम्मीदवारों की सूची, राज बब्बर अब फतेहपुर सीकरी से लड़ेंगे चुनाव

इसके साथ ही उन्होंने कहा कि मोदी के संदेश में यह भी कहा गया है कि यही समय है कि उपमहाद्वीप के लोगों को आतंक और हिंसा से मुक्त माहौल में साथ मिलकर लोकतांत्रिक, शांतिपूर्ण, प्रगतिपूर्ण और समृद्ध क्षेत्र के लिए काम करना चाहिए। इमरान खान के इस दावे की भारत की ओर से अभी तक किसी भी तरह की आधिकारिक पुष्टि नहीं हुई है।





Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।


नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।