हिन्दुस्तान का एकलौता नेता है मोदी जो पाकिस्तान को देगा मुंहतोड़ जवाब: शाह

  •  प्रभासाक्षी न्यूज नेटवर्क
  •  फरवरी 25, 2019   09:34
हिन्दुस्तान का एकलौता नेता है मोदी जो पाकिस्तान को देगा मुंहतोड़ जवाब: शाह

कांग्रेस के नेतृत्व वाले विपक्षी गठबंधन पर निशाना साधते हुए भाजपा अध्यक्ष अमित शाह ने कहा कि वे (विपक्षी गठबंधन) देश की भलाई के लिए कुछ भी नहीं कर सकते हैं।

जम्मू। भाजपा अध्यक्ष अमित शाह ने जम्मू कश्मीर की मौजूदा स्थिति के लिए रविवार को कांग्रेस को जिम्मेदार ठहराया और कहा कि प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ही केवल एक ऐसे नेता हैं जो पूरी क्षमता के साथ पाकिस्तान को मुंहतोड़ जवाब दे सकते हैं और देश को आगे ले जा सकते हैं। शाह ने भाजपा के बूथ स्तर के कार्यकर्ताओं की एक रैली को संबोधित करते हुए कहा, ‘देश विभिन्न सुरक्षा मुद्दों का सामना कर रहा है...केवल मोदी ही देश को सुरक्षा दे सकते हैं और इसे आगे ले जाकर एक विश्व शक्ति बना सकते हैं और उनमें पाकिस्तान को मुंहतोड़ जवाब देने की क्षमता है।’

कांग्रेस के नेतृत्व वाले विपक्षी गठबंधन पर निशाना साधते हुए उन्होंने कहा कि वे (विपक्षी गठबंधन) देश की भलाई के लिए कुछ भी नहीं कर सकते हैं। उन्होंने कहा, ‘मैं इस गठबंधन से यह पूछकर थक गया हूं कि उनका नेता कौन है। वे मुझे जवाब नहीं दे रहे हैं लेकिन जनता को उनसे पूछना चाहिए कि उनका नेता कौन है और उनकी नीतियां क्या हैं?’ शाह ने कहा, ‘उनका कोई नेता नहीं है और कोई नीति नहीं है और इस तरह का गठबंधन देश का भला नहीं कर सकता है। यह उन लोगों का समूह है जो वंशवादी राजनीति में हैं और वे अपने स्वयं के परिवारों के लिए एक साथ आए हैं और वे केवल अपने राजनीतिक हितों की रक्षा कर रहे हैं।’

इसे भी पढ़ें: कश्मीर से कन्याकुमारी तक एक-एक घुसपैठिये को बाहर किया जायेगा: अमित शाह

उन्होंने कहा कि देश विभिन्न सुरक्षा मुद्दों का सामना कर रहा है और उन्होंने पूछा कि क्या यह ‘गठबंधन’ देश को सुरक्षित कर सकता है। शाह ने कहा, ‘हम मजबूर सरकार नहीं चाहते हैं बल्कि ‘मजबूत सरकार’ चाहते हैं। यदि भारत को विश्व शक्ति बनना है तो आगामी चुनावों में सत्ता में लाने के लिए मोदी को वोट करें।’ कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी का जिक्र करते हुए उन्होंने कहा, ‘राहुल बाबा ने जम्मू कश्मीर की स्थिति के बारे में सवाल उठाये थे। आज यदि जम्मू कश्मीर में समस्या है तो आपके नाना (प्रथम प्रधानमंत्री जवाहरलाल नेहरू) के कारण है जिन्होंने सरदार (वल्लभभाई) पटेल को दरकिनार करते हुए इसे अपने हाथों में ले लिया।’

उन्होंने कहा, ‘आपने जम्मू-कश्मीर मुद्दे को लंबित रखा। हमारे सुरक्षा बल पाकिस्तान के कब्जे वाले कश्मीर को अपने अधिकार में लेने के लिए आगे बढ़ रहे थे लेकिन उन्हें रोका गया। वह निर्णय किसका था और कौन उसे यूएन लेकर गया।’ उन्होंने कहा, ‘वह आपके नाना थे जिन्होंने इस तरह के निर्णय लिये और हमें यह विरासत में मिला है, लेकिन चिंता न करें, यह कांग्रेस सरकार नहीं है, बल्कि भाजपा सरकार है और हमारा संकल्प है कि हम इसे (जम्मू और कश्मीर) भारत से अलग नहीं होने देंगे।’ शाह ने प्रधानमंत्री द्वारा शुरू की गई विभिन्न विकास योजनाओं का जिक्र करते हुए कहा कि भाजपा ने देश में विकास के एक नये चरण को सुनिश्चित किया और उन 50 करोड़ गरीब लोगों के सपनों को पूरा कर रही है जिनके पास कोई सुविधा नहीं थी।

इसे भी पढ़ें: सपा-बसपा सरकार में चरमरा गया था यूपी का प्रशासनिक ढांचा: अमित शाह

उन्होंने कहा, ‘मोदी एक मेहनती कार्यकर्ता हैं, वह 24 घंटे में 18 घंटे तक काम कर रहे हैं और देश के लिए उनका एक दृष्टिकोण है। वह दुनियाभर में बहुत लोकप्रिय हैं और केवल वही एक ऐसे व्यक्ति हैं जो इस देश को विकास की नई ऊंचाइयों पर ले जा सकते हैं और भारत को विश्व शक्ति बनायेंगे।’ शाह ने कहा कि उनकी सरकार ने इतने काम किये हैं, जो कांग्रेस की पिछली सरकारें पिछले 55 सालों में भी नहीं कर सकीं। भाजपा अध्यक्ष ने कहा कि मोदी सरकार के पांच साल का कार्यकाल खत्म होने जा रहा है और देश के अन्य हिस्सों की तरह ही जम्मू कश्मीर में भी चौतरफा विकास हुआ है।

उन्होंने पिछली सरकारों द्वारा जम्मू और लद्दाख क्षेत्रों से भेदभाव किये जाने के बारे में बात की और कहा कि केन्द्र सरकार ने यह सुनिश्चित किया कि इन क्षेत्रों को दी जाने वाली धनराशि विकास पर खर्च हो सके। शाह ने कहा, ‘कांग्रेस, नेशनल कांफ्रेंस और पीडीपी की वंशवादी सरकारें अपने-अपने विकास को लेकर ज्यादा परेशान थीं लेकिन जब से भाजपा सरकार आई तो हमने यह सुनिश्चित किया कि हर एक पैसा आम लोगों तक पहुंचे।’ 

इसे भी पढ़ें: अमित शाह बोले, पुलवामा के शहीदों का खून बेकार नहीं जाएगा

नेकां के अध्यक्ष फारूक अब्दुल्ला के उस बयान का जिक्र करते हुए जिसमें उन्होंने पूछा है कि भाजपा ने राज्य को क्या दिया है, शाह ने कहा कि फारूक साहब हम यहां रह रहे हैं और घूमने के लिए लंदन नहीं जाते हैं। वे हमसे हिसाब मांग रहे हैं और घाटी के युवाओं को गुमराह और भड़का रहे हैं। मैं घाटी के युवाओं से यह पूछना चाहता हूं कि उनके बच्चे कहां पढ़ रहे हैं और जो लोग घाटी में स्कूल बंद कर रहे हैं, वे जनता के पैसों से अमेरिका और इंग्लैंड में शिक्षा के लिए नामांकन करा रहे हैं। उन्होंने कहा कि भारतीय जनसंघ के नेता श्यामा प्रसाद मुखर्जी ने जिस स्थान पर अपने जीवन का बलिदान दिया, वह “हमारा है”। शाह ने 14 फरवरी को हुए पुलवामा हमले का जिक्र किया जिसमें सीआरपीएफ के 40 जवान शहीद हो गये थे।

भाजपा अध्यक्ष ने कहा कि इन जवानों की शहादत व्यर्थ नहीं जायेगी। उन्होंने कहा, ‘प्रधानमंत्री ने आतंकवाद के दोषियों के खिलाफ किसी भी दंडात्मक कार्रवाई किये जाने का अधिकार सुरक्षा बलों को दे दिया है।’ जम्मू कश्मीर को विशेष दर्जा दिये जाने के खिलाफ विरोध जताने के लिए कश्मीर में प्रवेश करने पर 11 मई, 1953 को मुखर्जी को गिरफ्तार कर लिया गया था। उनकी जून, 1953 में दिल का दौरा पड़ने से हिरासत में मौत हो गई थी। उन्होंने कहा कि आतंकवाद पर भारत सरकार की नीति कतई बर्दाश्त नहीं करने की है। उन्होंने कहा कि जम्मू कश्मीर भारत का अभिन्न अंग है और किसी में इसे दूर करने की शक्ति नहीं है।

इसे भी पढ़ें: यूपी NDA में तकरार से केशव मौर्य का इनकार, कहा- 73 प्लस सीटें जीतेंगे

शाह ने कहा कि उनकी पार्टी यह सुनिश्चित करेगी कि असम की तर्ज पर कश्मीर से कन्याकुमारी तक रोहिंग्या शरणार्थियों समेत एक-एक घुसपैठिये को चुन-चुनकर बाहर किया जाये। असम में राष्ट्रीय नागरिक पंजी (एनआरसी) का जिक्र करते हुए भाजपा अध्यक्ष ने कहा कि उनकी पार्टी देश से एक-एक घुसपैठिये को बाहर करने के लिये कश्मीर से लेकर कन्याकुमारी तक इसी तरह की मुहिम चलायेगी।





Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।


नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।