संस्कार भारती के परिसर का उद्घाटन कार्यक्रम में मौजूद रहेंगे मोहन भागवत

Mohan Bhagwat
संस्कार भारती द्वारा मंगलवार को जारी बयान में कहा गया यहां दीनदयाल उपाध्याय मार्ग स्थित परिसर कला एवं संस्कृति गतिविधि परिसर होगा और इसे कला संकुल नाम दिया गया है। इसमें कहा गया है कि यह कला, साहित्य और रंगमंच की विभिन्न विधाओं को एक एकीकृत प्रारूप में प्रदर्शित करने के लिए समर्पित होगा और इसे व्यापक पैमाने पर बढ़ावा दिया जाएगा।
नयी दिल्ली। राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ (आरएसएस) से जुड़े संस्कार भारती के नये परिसर का उद्घाटन दो अप्रैल को संघ प्रमुख मोहन भागवत की मौजूदगी में कोविड-19 दिशानिर्देशों का पालन करते हुए होगा। यह जानकारी जारी एक बयान में दी गई। संस्कार भारती द्वारा मंगलवार को जारी बयान में कहा गया यहां दीनदयाल उपाध्याय मार्ग स्थित परिसर कला एवं संस्कृति गतिविधि परिसर होगा और इसे कला संकुल नाम दिया गया है। इसमें कहा गया है कि यह कला, साहित्य और रंगमंच की विभिन्न विधाओं को एक एकीकृत प्रारूप में प्रदर्शित करने के लिए समर्पित होगा और इसे व्यापक पैमाने पर बढ़ावा दिया जाएगा। 

इसे भी पढ़ें: राम मंदिर निर्माण के लिए आरएसएस ने विदर्भ क्षेत्र से एकत्र किए 57 करोड़ रुपये

बयान में कहा गया है कि परिसर का उद्घाटन आरएसएस प्रमुख भागवत की मौजूदगी में किया जाएगा और इस कार्यक्रम के लिए केवल चुनिंदा लोगों को आमंत्रित किया गया है। परिसर में एक पुस्तकालय, आर्ट गैलरी, प्रेक्षागृह, स्टूडियो और कॉन्फ्रेंस रूम सहित कई सुविधाएं हैं। संस्कार भारती ने कहा कि कला संकुल कला और संस्कृति का एक प्रमुख केंद्र होगा। उसने कहा कि संस्कार भारती का उद्देश्य भारत के पारंपरिक, शास्त्रीय, लोक और आधुनिक कलाओं के माध्यम से लोगों के जीवन में राष्ट्रीय मूल्य उत्पन्न करना है।

Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।


अन्य न्यूज़