छत्तीसगढ़ विधानसभा का मानसून सत्र समाप्त, 12 विधेयक चर्चा उपरांत हुए पारित

  •  प्रभासाक्षी न्यूज नेटवर्क
  •  अगस्त 29, 2020   10:20
छत्तीसगढ़ विधानसभा का मानसून सत्र समाप्त, 12 विधेयक चर्चा उपरांत हुए पारित

विधानसभा अध्यक्ष चरणदास महंत ने बताया कि मानसून सत्र की कुल चार बैठकों में लगभग 24 घंटे 30 मिनट चर्चा हुई। इस सत्र में तारांकित प्रश्नों की 304 एवं अतारांकित प्रश्नों की 275 और इस प्रकार कुल 579 प्रश्नों की सूचनाएं प्राप्त हुईं। वहीं ध्यानाकर्षण की कुल 221 सूचनाएं प्राप्त हुईं

रायपुर। छत्तीसगढ़ विधानसभा का मानसून सत्र शुक्रवार को समाप्त हो गया। विधानसभा में शुक्रवार को विधानसभा अध्यक्ष चरणदास महंत ने मानसून सत्र के समाप्त होने की जानकारी दी। महंत ने कहा कि पंचम विधानसभा के सातवें सत्र का आज अंतिम कार्य दिवस है। यह सत्र कई मायनों में कुछ अलग अनुभव देने वाला रहा, आज पूरा विश्व कोरोना महामारी के संक्रमण के प्रभाव से गुजर रहा है। हम सबके लिए यह गर्व का विषय है कि हमारी छत्तीसगढ़ विधानसभा ने राज्य में कोरोना महामारी से उत्पन्न संकट की घड़ी में पूर्ण सजगता और समर्पण के साथ योगदान दिया है। 

इसे भी पढ़ें: लोकसभा अध्यक्ष ओम बिरला ने मानसून सत्र से पहले कोरोना को लेकर तैयारियों का लिया जायजा 

विधानसभा अध्यक्ष ने कहा कि सत्र समापन के अवसर पर मैं अपनी ओर से और सदन की ओर से हमारे ‘कोरोना योद्धाओं’ डॉक्टर, नर्स व अन्य चिकित्सा कर्मचारी, पुलिस-प्रशासन, स्वयंसेवी संगठन, राजनैतिक दलों के कार्यकर्ताओं, शासन-प्रशासन के अधिकारीगण और वे सभी जन जिन्होंने कोविड-19 के संक्रमण के संकट काल में पीड़ित और जरूरतमंदों की सेवा की है, उन सबके प्रति साधुवाद प्रेषित करता हूं, यह सदन उनके इस योगदान के प्रति कृतज्ञ है।

उन्होंने कहा कि कोरोना महामारी के संक्रमण से अपने छत्तीसगढ़ राज्य को हम और अधिक कैसे सुरक्षित रख सकते हैं, इस विषय की गंभीरता को ध्यान में रखते हुए, इस मानसून सत्र में प्रतिपक्ष द्वारा लाए गए स्थगन प्रस्ताव पर पांच घंटे चर्चा हुई, चर्चा से यह निष्कर्ष स्थापित हुआ कि राजनैतिक प्रतिबद्धताओं के चलते पक्ष-प्रतिपक्ष के माननीय सदस्यों की प्रतिक्रियाओं में भले ही विभिन्नता हो परन्तु सभी की भावना छत्तीसगढ़ राज्य को सुरक्षित खुशहाल बनाए रखने की है और आप सभी इसके लिए संकल्पित हैं।

इसे भी पढ़ें: कांग्रेस ने गठित की 5 सदस्यीय समिति, जयराम रमेश होंगे राज्यसभा में मुख्य सचेतक 

महंत ने बताया कि मानसून सत्र की कुल चार बैठकों में लगभग 24 घंटे 30 मिनट चर्चा हुई। इस सत्र में तारांकित प्रश्नों की 304 एवं अतारांकित प्रश्नों की 275 और इस प्रकार कुल 579 प्रश्नों की सूचनाएं प्राप्त हुईं। वहीं ध्यानाकर्षण की कुल 221 सूचनाएं प्राप्त हुईं, जिनमें से 57 सूचनाएं ग्राह्य हुई और 33 सूचनायें शून्यकाल में परिवर्तित की गई। उन्होंने बताया कि इस सत्र में विनियोग विधेयक सहित 12 विधेयकों की सूचनाएं प्राप्त हुई और सभी चर्चा उपरांत पारित हुए। वित्तीय कार्यों के अन्तर्गत प्रथम अनुपूरक अनुमान पर तीन घंटे 33 मिनट चर्चा हुई। विधानसभा अध्यक्ष ने बताया कि पंचम विधानसभा का आठवां सत्र दिसंबर माह के तीसरे सप्ताह में आहूत होने की संभावना है।





Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।


नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।