क्या गिर जाएगी उद्धव सरकार ? केंद्र में मंत्री पद, महाराष्ट्र के 8 प्रमुख मंत्रालय... भाजपा ने शिंदे को दिया यह प्रस्ताव: सूत्र

Devendra Fadnavis
प्रतिरूप फोटो
ANI Image
राजनीतिक गलियारों में चर्चा है कि उद्धव ठाकरे की सरकार गिर सकती है और एकनाथ शिंदे भाजपा के साथ मिलकर सरकार का गठन करेंगे। हालांकि एकनाथ शिंदे ने राज्यपाल भगत सिंह कोश्यारी से भी संपर्क साधने का प्रयास किया है। आपको बता दें कि रेडिसन ब्लू होटल में 42 विधायक मौजूद हैं।

मुंबई। शिवसेना के बागी विधायक एकनाथ शिंदे को भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) ने एक अहम प्रस्ताव दिया है। आपको बता दें कि एकनाथ शिंदे शिवसेना के बागी विधायकों के साथ असम की राजधानी गुवाहाटी में मौजूद है। जहां के होटल रेडिसन ब्लू को छावनी में तब्दील कर दिया गया है। इस होटल में आम नागरिकों के प्रवेश पर प्रतिबंध लगाया गया है। हालांकि उद्धव ठाकरे की लड़ाई में तृणमूल कांग्रेस ने अपना दोस्ताना हाथ आगे बढ़ाया है। 

इसे भी पढ़ें: 'शिंदे साहब तुम आगे बढ़ो, हम तुम्हारे साथ हैं', गुवाहाटी में शिवसेना के 35 बागी और 7 निर्दलीय विधायकों का शक्ति प्रदर्शन 

गुवाहाटी में TMC का प्रदर्शन

असम की तृणमूल कांग्रेस इकाई के अध्यक्ष रिपुन बोरा के नेतृत्व में पार्टी सदस्यों और कार्यकर्ताओं ने रेडिसन ब्लू होटल के बाहर विरोध प्रदर्शन किया, जहां पर शिवसेना के बागी विधायक और 7 निर्दलीय विधायक अपना डेरा जमाए हुए हैं।

लगातार बैठकें कर रही भाजपा

सूत्रों ने बताया कि भाजपा की महाराष्ट्र इकाई की बैठक हुई। इस बैठक में सरकार गठन और आगे की प्रक्रिया को लेकर चर्चा हुई। कहा जा रहा है कि भाजपा ने एकनाथ शिंदे को एक प्रस्ताव दिया है। जिसके मुताबिक, भाजपा के साथ सरकार का गठन करने पर प्रदेश के 8 कैबिनेट मंत्रालय और 5 राज्य मंत्रालय उन्हें दिए जा सकते है। इसके अलावा केंद्र में मंत्री पद देने का प्रस्ताव दिया गया है। सूत्रों के हवाले से यह जानकारी सामने आई है।

राजनीतिक गलियारों में चर्चा है कि उद्धव ठाकरे की सरकार गिर सकती है और एकनाथ शिंदे भाजपा के साथ मिलकर सरकार का गठन करेंगे। हालांकि एकनाथ शिंदे ने राज्यपाल भगत सिंह कोश्यारी से भी संपर्क साधने का प्रयास किया है। आपको बता दें कि रेडिसन ब्लू होटल में 42 विधायक मौजूद हैं। जिनमें शिवसेना के 35 और 7 निर्दलीय विधायक हैं। 

इसे भी पढ़ें: पिछली शिकस्त से सबक लेकर बीजेपी पवार की पावर को जांच परख कर रख रही कदम, ठाकरे भी सलाह पर कर रहे काम 

उद्धव और शरद ने घुटने टेके !

माना जा रहा है कि उद्धव ठाकरे और शरद पवार ने एकनाथ शिंदे की रणनीति के सामने अपने घुटने टेक दिए हैं। क्योंकि उद्धव ठाकरे ने बुधवार को आधिकारिक मुख्यमंत्री आवास 'वर्षा' को छोड़कर 'मातोश्री' चले गए। जबकि शरद पवार ने गृह मंत्री दिलीप वालसे पाटिल के प्रति नाराजगी जाहिर की। क्योंकि खुफिया विभाग ने विधायकों की बगावत को लेकर कोई जानकारी नहीं दीं।

इसके अलावा शरद पवार ने उद्धव ठाकरे के प्रति एकजुटता प्रकट की है। उन्होंने कहा कि हम शिवसेना के साथ हैं और सत्ता जाने के बाद संघर्ष के लिए तैयार हैं।

नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।

अन्य न्यूज़