मार्शलों की नयी ड्रेस के संबंध में बोले नायडू, सेना की वर्दी की तरह नहीं दिखनी चाहिए

  •  प्रभासाक्षी न्यूज नेटवर्क
  •  नवंबर 21, 2019   12:40
मार्शलों की नयी ड्रेस के संबंध में बोले नायडू, सेना की वर्दी की तरह नहीं दिखनी चाहिए

सभापति नायडू ने कहा कि उन्होंने पहले भी कहा है कि ड्रेस सेना की वर्दी की तरह नहीं दिखनी चाहिए।

नयी दिल्ली। राज्यसभा के मार्शलों की नयी ड्रेस के संबंध में सभापति एम वेंकैया नायडू ने गुरूवार को कहा कि यह सेना की वर्दी की तरह नहीं दिखनी चाहिए और इस संबंध में प्रक्रिया चल रही है। उच्च सदन की सुबह बैठक शुरू होने पर कुछ सदस्यों ने मार्शलों की ड्रेस का मुद्दा उठाने का प्रयास किया। इस पर सभापति नायडू ने कहा कि उन्होंने पहले भी कहा है कि ड्रेस सेना की वर्दी की तरह नहीं दिखनी चाहिए।

इसे भी पढ़ें: राज्यसभा के मार्शल वर्दी पर विवाद, पूर्व सेना प्रमुख और केंद्रीय मंत्री ने सेना जैसी वर्दी पर जताया विरोध

उन्होंने कहा कि इसके लिए प्रक्रिया चल रही है। संसद के शीतकालीन सत्र की शुरूआत 18 नवंबर को हुई और उस दिन आसन की सहायता के लिए मौजूद रहने वाले मार्शल एकदम नयी वेषभूषा में नजर आए। इन मार्शलों की वर्दी में किये गये बदलाव की कुछ पूर्व सैन्य अधिकारियों और नेताओं ने आलोचना की थी।इसके बाद सभापति नायडू ने मंगलवार को इनकी वर्दी में बदलाव की समीक्षा के आदेश दिए थे।





Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।


नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।

Prabhasakshi logoखबरें और भी हैं...

राष्ट्रीय

झरोखे से...