नाना पटोले का नेताओं और कार्यकर्ताओं से अपील, पंजीकरण अभियान को बनाएं जन आंदोलन

  •  प्रभासाक्षी न्यूज नेटवर्क
  •  जनवरी 8, 2022   20:36
नाना पटोले का नेताओं और कार्यकर्ताओं से अपील, पंजीकरण अभियान को बनाएं जन आंदोलन

इस अवसर पर मार्गदर्शन देते हुए पटोले ने आगे कहा कि इस अभियान के लिए प्रत्येक बूथ पर चार स्वयंसेवकों की भर्ती के लिए तीन पुरुष और एक महिला स्वयंसेवक के नाम निर्धारित किए जाएंगे। इन स्वयंसेवकों को राजस्व विभाग मुख्यालय में तकनीकी मामलों में प्रशिक्षित किया जाएगा।

महाराष्ट्र कांग्रेस अध्यक्ष नाना पटोले ने राज्य के सभी नेताओं और कार्यकर्ताओं से अखिल भारतीय कांग्रेस कमेटी द्वारा शुरू किए गए  डिजिटल सदस्य पंजीकरण अभियान को महाराष्ट्र में सबसे सफल बनाने का आवाहन किया है। उन्होंने सभी नेताओं से इस अभियान को 'जन आंदोलन' बनाने की अपील की है, ताकि पार्टी की विचारधारा के साथ ज्यादा से ज्यादा लोगों को जोड़ा जा सके। डिजिटल सदस्यता पंजीकरण अभियान के संबंध में प्रदेश अध्यक्ष पटोले ने शनिवार को राज्य के सभी जिलाध्यक्षों एवं जिला निरीक्षकों की ऑनलाइन बैठक कर अभियान की जानकारी दी।

इसे भी पढ़ें: नाना पटोले का लक्ष्य, पूरे देश में महाराष्ट्र सबसे अधिक डिजिटल सदस्यों का पंजीकरण करेगा

इस अवसर पर मार्गदर्शन देते हुए पटोले ने आगे कहा कि इस अभियान के लिए प्रत्येक बूथ पर चार स्वयंसेवकों की भर्ती के लिए तीन पुरुष और एक महिला स्वयंसेवक के नाम निर्धारित किए जाएंगे। इन स्वयंसेवकों को राजस्व विभाग मुख्यालय में तकनीकी मामलों में प्रशिक्षित किया जाएगा। उन्होंने कहा कि कांग्रेस का डिजिटल सदस्य पंजीकरण अभियान पूरी तरह से पारदर्शी और विश्वसनीय है। सदस्यों के पंजीकरण के बाद उन्हें एक पहचान पत्र भी दिया जाएगा। पटोले ने कहा कि राष्ट्रीय स्तर के सभी कार्यक्रमों में महाराष्ट्र का हमेशा प्रमुख योगदान रहा है। उन्होंने विश्वास जताया कि डिजिटल सदस्य पंजीकरण अभियान में भी महाराष्ट्र पूरे देश में अव्वल स्थान हासिल करेगा।  इस मौके पर पटोले के साथ प्रदेश उपाध्यक्ष भा. ई, नगराले और सोशल मीडिया के प्रदेश अध्यक्ष विशाल मुत्तेमवार भी मौजूद थे।





Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।


नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।