झारखंड में नक्सलियों ने विस्फोट कर पटरी क्षतिग्रस्त की, नौ घंटे बाद रेल यातायात बहाल

  •  प्रभासाक्षी न्यूज नेटवर्क
  •  नवंबर 21, 2021   13:15
झारखंड में नक्सलियों ने विस्फोट कर पटरी क्षतिग्रस्त की, नौ घंटे बाद रेल यातायात बहाल

झारखंड के लातेहार जिले में शुक्रवार देर रात प्रतिबंधित भाकपा (माओवादी) के हथियारबंद दस्ते ने विस्फोट कर रेलवे पटरियों के एक हिस्से को उड़ा दिया जिससे बरकाकाना-गढ़वा रेलखंड पर ट्रेन सेवाएं बाधित रहीं। नौ घंटे बाद रेल यातायात बहाल कर दिया गया।

लातेहार (झारखंड)। झारखंड के लातेहार जिले में शुक्रवार देर रात प्रतिबंधित भाकपा (माओवादी) के हथियारबंद दस्ते ने विस्फोट कर रेलवे पटरियों के एक हिस्से को उड़ा दिया जिससे बरकाकाना-गढ़वा रेलखंड पर ट्रेन सेवाएं बाधित रहीं। नौ घंटे बाद रेल यातायात बहाल कर दिया गया। पुलिस के मुताबिक एक अन्य घटना में नक्सलियों ने चाईबासा के गोइलकेरा में एक पुलिया में भी बम विस्फोट कर उसे क्षतिग्रस्त कर दिया लेकिन किसी के हताहत होने की सूचना नहीं है।

इसे भी पढ़ें: हम निकल पड़े हैं प्रण करके, अपना तन-मन अर्पण करके, जिद है एक सूर्य उगाना है...पंक्तियों संग योगी आदित्यनाथ ने शेयर की तस्वीर

पलामू क्षेत्र के पुलिस उपमहानिरीक्षक (डीआईजी) राज कुमार लकड़ा ने मेदिनीनगर में बताया कि माओवादियों ने देर रात लगभग 12.50 बजे धनबाद रेल मंडल में टोरी-लातेहार रेल खंड पर रिचुघूटा और देमू रेलवे स्टेशन के बीच बम विस्फोट कर डालटनगंज रेलवे लाइन पर दो कंक्रीट स्लीपर को उड़ा दिया जिससे इस रेल खंड पर रेल यातायात लगभग नौ घंटे बाधित रहा। उन्होंने बताया कि रेलवे ट्रैक क्षतिग्रस्त होने के कारण बरकाकाना-गढ़वा रेलखंड पर रेलगाड़ियों का परिचालन ठप हो गया] लेकिन सुबह लगभग सवा दस बजे तक रेलवे ट्रैक की मरम्मत कर इस रेल खंड पर रेल यातायात बहाल कर दिया गया। उन्होंने बताया कि मध्य पूर्व रेलवे के धनबाद मंडल के तहत उक्त स्थल पर माओवादियों द्वारा आहूत बंद के पूर्व हुए बम विस्फोट के बाद पलामू, गढ़वा और लातेहार जिले में पुलिस को और सतर्क कर दिया गया।

इसे भी पढ़ें: 'न्यूनतम समर्थन मूल्य' या 'मुक्त बाजार व्यवस्था' क्या है किसानों की समस्या का समाधान

माओवादियों ने अपने शीर्ष कमांडर प्रशांत बोस उर्फ किशन जी कीएक हफ्ते पहले झारखंड पुलिस द्वारा हुई गिरफ्तारी के विरोध में शनिवार को देशव्यापी बंद आहूत किया था। इस बीच, धनबाद मंडल के रेलवे के प्रवक्ता प्रभात कुमार मिश्रा ने बताया कि विस्फोट से रेलवे ट्रैक को कोई विशेष नुकसान नहीं हुआ था अलबत्ता रेलवे लाइन के नीचे की कंक्रीट की एक स्लीपर उड़ गयी जिसे ट्रैक को काट कर ठीक करना पड़ा जिससे रेलवे लाइन को पुनः चालू करने में समय लग गया।

उन्होंने बताया कि इसके अलावा विस्फोट में एक डीजल इंजन की ट्रॉली क्षतिग्रस्त हुई है। यह इंजन ट्रैक की जांच करने वाली ट्रेन में लगा था। इधर, बम विस्फोट की खबर फैलने के बाद मेदिनीनगर बस अड्डे से यात्री बसों के रांची के लिए परिचालन को भी रोक दिया गया था। पुलिस सूत्रों ने बताया कि आज नक्सलियों के भारत बंद का राज्य के विभिन्न हिस्सों में कोई विशेष प्रभाव नहीं देंखा गया।





Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।


नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।