NCP का दावा, केंद्र ने शरद पवार के आवास से हटाई सुरक्षा

  •  प्रभासाक्षी न्यूज नेटवर्क
  •  जनवरी 24, 2020   17:23
NCP का दावा, केंद्र ने शरद पवार के आवास से हटाई सुरक्षा

मलिक ने कहा कि राज्यसभा सदस्य एवं पूर्व केंद्रीय मंत्री पवार को राष्ट्रीय राजधानी में ‘वाई’ श्रेणी की सुरक्षा मुहैया कराई गई थी। उन्होंने बताया कि 6 जनपथ स्थित पवार के आवास पर तैनात सुरक्षा कर्मियों ने 20 जनवरी के बाद से बंगले पर रिपोर्ट करना बंद कर दिया है।

मुंबई। राकांपा ने केंद्र सरकार पर पार्टी प्रमुख शरद पवार के नयी दिल्ली स्थित आधिकारिक आवास से सुरक्षा हटाने और ‘‘बदले की राजनीति’’ करने का शुक्रवार को आरोप लगाया। महाराष्ट्र के मंत्री और राकांपा के मुख्य प्रवक्ता नवाब मलिक ने कहा कि इस प्रकार के कदम से पार्टी नेताओं को डराया नहीं जा सकता। उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह के खिलाफ पार्टी की लड़ाई जारी रहेगी।

मलिक ने कहा कि राज्यसभा सदस्य एवं पूर्व केंद्रीय मंत्री पवार को राष्ट्रीय राजधानी में ‘वाई’ श्रेणी की सुरक्षा मुहैया कराई गई थी। उन्होंने बताया कि 6 जनपथ स्थित पवार के आवास पर तैनात सुरक्षा कर्मियों ने 20 जनवरी के बाद से बंगले पर रिपोर्ट करना बंद कर दिया है और सरकार ने इसके बारे में पहले से कोई जानकारी नहीं दी थी। मलिक ने कहा, ‘‘यह एक प्रकार की बदले की राजनीति है। उन्हें लगता है कि राकांपा नेता इससे विचलित हो जाएंगे। यह उनकी गलतफहमी है। मोदी और शाह के खिलाफ लड़ाई जारी रहेगी।’’ राकांपा नेता जयंत पाटिल ने भी भाजपा की आलोचना की और केंद्र के इस कदम को महाराष्ट्र में भाजपा की हार से जोड़ा। उन्होंने कहा कि महाराष्ट्र में सत्ता बदलने की बात को भाजपा ने दिल पर ले लिया है और इसी लिए वह बदले की भावना से काम कर रही है।

इसे भी पढ़ें: एनसीपी चीफ शरद पवार बोले- मुसलामानों की वजह से हुआ महाराष्ट्र की सत्ता में बदलाव

पाटिल ने ट्वीट किया, ‘यह लोकतंत्र के लिए हानिकारक है।’’ राज्य के आवासीय मंत्री जितेंद्र औहद ने कहा कि इस प्रकार के कदमों से पवार को डराया नहीं जा सकता।  उन्होंने कहा, ‘‘लोगों का प्यार और स्नेह उनका सुरक्षा कवच है।’’ राज्य के सामाजिक न्याय मंत्री धनन्जय मुंडे ने केंद्र की निंदा करते हुए ट्वीट किया ‘‘आप और कितना नीचे गिरेंगे?’’ 79 वर्षीय राकांपा अध्यक्ष को महाराष्ट्र में ‘जेड प्लस’ श्रेणी की सुरक्षा दी गई है, जहां उनकी पार्टी शिवसेना नीत सरकार की घटक है।





Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।


नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।

Prabhasakshi logoखबरें और भी हैं...

राष्ट्रीय

झरोखे से...