गोवा में भाजपा को सत्ता से हटाने के लिये महाराष्ट्र जैसे प्रयोग करने की आवश्यकता: सरदेसाई

  •  प्रभासाक्षी न्यूज नेटवर्क
  •  नवंबर 29, 2019   15:54
गोवा में भाजपा को सत्ता से हटाने के लिये महाराष्ट्र जैसे प्रयोग करने की आवश्यकता: सरदेसाई

सरदेसाई ने यह बात पार्टी विधायकों विनोद पालयेकर तथा जयेश सलगांवकर, शिवसेना सांसद संजय राउत और राकांपा नेता प्रफुल्ल पटेल के साथ शुक्रवार को मुंबई में हुई बैठक के बाद कही।

पणजी। भाजपा के पूर्व सहयोगी दल गोवा फॉरवर्ड पार्टी (जीएफपी) ने शुक्रवार को कहा कि प्रमोद सावंत नीत  जन-विरोधी  सरकार से छुटकारा पाने के लिये राज्य में महाराष्ट्र जैसे प्रयोग का वह समर्थन करती है। जीएफपी के अध्यक्ष तथा पूर्व उपमुख्यमंत्री विजय सरदेसाई ने कहा कि वे महाराष्ट्र जैसे प्रयोग के जरिये गोवा में भाजपा को सत्ता से हटाने के लिये तैयार लोगों से बातचीत करेंगे।

इसे भी पढ़ें: प्रधानमंत्री मोदी का ऐलान, आतंकवाद से निपटने के लिए श्रीलंका को देंगे पांच करोड़ डॉलर

सरदेसाई ने यह बात पार्टी विधायकों विनोद पालयेकर तथा जयेश सलगांवकर, शिवसेना सांसद संजय राउत और राकांपा नेता प्रफुल्ल पटेल के साथ शुक्रवार को मुंबई में हुई बैठक के बाद कही। महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री तथा शिवेसना प्रमुख उद्धव ठाकरे के नेतृत्व में बनी तीन दलों की गठबंधन सरकार के बारे में सरदेसाई ने कहा कि सत्तारूढ़ गठबंधन क्षेत्रीय मुद्दों पर काम करेगा, जिसका जीपीएफ समर्थन करती है।

इसे भी पढ़ें: तेजस्वी का तंज, पूछा- क्या देशहित में नहीं खा सकते 100 रुपये किलो प्याज़?

शिवसेना, राकांपा और कांग्रेस ने छोटे दलों को साथ लेकर महाराष्ट्र में  महा विकास आघाडी  की सरकार बनाई है। सरदेसाई ने कहा,  क्षेत्रीय दल हमारी तरह स्थानीय लोगों के लिये लड़ रहे हैं। हम इस तरह का प्रयोग गोवा में भी करने का इरादा रखते हैं ताकि लोगों को गोवा के हितों के बजाय अपने हितों के लिये काम कर रही प्रमोद सावंत की जन-विरोधी सरकार का विकल्प दिया जा सके। 





Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।


नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।