आतंकियों पर नकेल! जम्मू कश्मीर में हो रही आम नागरिकों की हत्या के बीच NIA ने 18 जगहों पर छापेमारी की

आतंकियों पर नकेल! जम्मू कश्मीर में हो रही आम नागरिकों की हत्या के बीच NIA ने 18 जगहों पर छापेमारी की

एनआईए आतंकी संगठनों के ओवरग्राउंड नेटवर्क (ओजीएन) पर नकेल कसने के लिए मध्य कश्मीर में कई स्थानों को निशाना बना रही है। एनआईए लश्कर-ए-तैयबा, जैश-ए-मोहम्मद, हिजबुल मुजाहिदीन, अल बद्र और अन्य आतंकी संगठनों से जुड़े लोगों को निशाना बना रही है जो जम्मू-कश्मीर और उसके बाहर फैल गए हैं।

पिछले काफी दिनों से जम्मू कश्मीर का अमन-चैन लूटने के लिए आतंकवादी वहां के आम नागरिकों की हत्या कर रहे हैं। भाजपा नेता, कश्मीरी पंडितों सहित आम नागरिकों को आतंकी अपना निशाना बना रहे हैं ताकि राज्य की शांति को भंग किया जा सकें। श्री नजर के स्कूल में हमला करने के बाद आतंकियों ने सुरक्षा बलों को निशाना बनाया। सोमवार को आतंकियों के साथ मुठभेड़ में जेसीओ समेत पांच जवान शहीद हो गये। जवाबी कार्यवाई में अबतक तीन आतंकियों ढेर किया जा चुका है। 

इसे भी पढ़ें: ड्रग्स केस की जांच कर रहे NCB अधिकारी समीर वानखेड़े का आरोप, कब्रिस्तान तक पुलिस कर रही मेरा पीछा

आतंकियों के नेटवर्ट की तलाशी के लिए पूरे देश में एनआईए छापेमारी कर रहा है। दिल्ली पुलिस की स्पेशल सेल ने दिल्ली के लक्ष्मी नजर से पाकिस्तान का एक आतंकी भी गिरफ्तार किया जिसके पास काफी हथियार भी थे। अब एनआईए ने मंगलवार को दिल्ली एनसीआर, यूपी और जम्मू-कश्मीर में 18 जगहों पर छापेमारी की। जम्मू-कश्मीर में, उसने गालबुग काकापोरा निवासी खालिक डार के बेटे ओवैस अहमद डार के घर पर छापा मारा गया है। ये छापे कश्मीर में हाल ही में नागरिकों की हत्याओं के बाद आतंकवादियों के खिलाफ प्रशासन की कार्रवाई का हिस्सा हैं। 

इसे भी पढ़ें: मिशन 2022 को लेकर एक्शन में अखिलेश, डिप्टी CM पद की चाह लिए बीजेपी के हाई प्रोफाइल नेता की हो सकती है सपा में एंट्री

 

एनआईए आतंकी संगठनों के ओवरग्राउंड नेटवर्क (ओजीएन) पर नकेल कसने के लिए मध्य कश्मीर में कई स्थानों को निशाना बना रही है। एनआईए लश्कर-ए-तैयबा, जैश-ए-मोहम्मद, हिजबुल मुजाहिदीन, अल बद्र और अन्य आतंकी संगठनों से जुड़े लोगों को निशाना बना रही है जो जम्मू-कश्मीर और उसके बाहर फैल गए हैं।

 सोमवार को सुरक्षाबलों के साथ मुठभेड़ में तीन आतंकी ढेर हो गये। मृत आतंकवादी की पहचान इम्तियाज अहमद डार के रूप में हुई, जो प्रतिबंधित आतंकी संगठन, द रेसिस्टेंस फ्रंट, लश्कर-ए-तैयबा के लिए एक मोर्चा से संबद्ध था। डार बांदीपोरा के शाहगुंड में हाल ही में नागरिकों की हत्या में शामिल था। उसी दिन, जम्मू-कश्मीर के पुंछ सेक्टर में उग्रवाद विरोधी अभियान के दौरान एक मुठभेड़ में भारतीय सेना के पांच जवान शहीद हो गए थे।





नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।