प्रवीण मर्डर केस की जांच करेगी NIA, कर्नाटक CM बसवराज बोम्मई ने की सिफारिश

Basavaraj Bommai
ANI
अंकित सिंह । Jul 29, 2022 3:18PM
प्रवीण नेत्तारू की हत्या के मामले में बृहस्पतिवार को दक्षिण कन्नड़ जिले से दो लोगों को गिरफ्तार कर लिया। दोनों का संबंध पॉपुलर फ्रंट ऑफ इंडिया (पीएफआई) से होने का संदेह है। पुलिस ने बताया कि गिरफ्तार आरोपियों की पहचान जिले में सुलिया तालुक के बेल्लारे के जाकिर (29) और मोहम्मद शफीक (27) के रूप में हुई है।

कर्नाटक में भाजपा के युवा मोर्चा के नेता प्रवीण नेत्तारू की हत्या को लेकर बवाल जारी है। कर्नाटक में भले ही भाजपा की सरकार है। बावजूद इसके पार्टी के कार्यकर्ता लगातार इस हत्या को लेकर अपना विरोध जता रहे हैं। खबर तो यह भी है कि पार्टी के कई कार्यकर्ताओं ने अपना इस्तीफा तक दे दिया है। इन सबके बीच कर्नाटक सरकार ने बड़ा फैसला लिया है। कर्नाटक के मुख्यमंत्री बसवराज बोम्मई ने ऐलान किया है कि कर्नाटक सरकार ने प्रवीण हत्याकांड मामले को एनआईए को सौंपने का फैसला लिया है। माना जा रहा था कि प्रवीण की हत्या को लेकर कर्नाटक सरकार बैकफुट पर थी। यही कारण रहा कि इस हत्या की जांच के लिए एनआईए की सिफारिश कर दी गई है। 

इसे भी पढ़ें: कर्नाटक में भाजपा नेता की हत्या के बाद अब मुस्लिम युवक की चाकू से गोदकर हत्या, पूरे शहर में तनाव, धारा 144 लागू

इससे पहले प्रवीण नेत्तारू की हत्या के मामले में बृहस्पतिवार को दक्षिण कन्नड़ जिले से दो लोगों को गिरफ्तार कर लिया। दोनों का संबंध पॉपुलर फ्रंट ऑफ इंडिया (पीएफआई) से होने का संदेह है। पुलिस ने बताया कि गिरफ्तार आरोपियों की पहचान जिले में सुलिया तालुक के बेल्लारे के जाकिर (29) और मोहम्मद शफीक (27) के रूप में हुई है। पुलिस के मुताबिक दोनों ही आरोपी बेल्लारे से हैं, उनके पीएफआई के साथ संदिग्ध संबंध हैं जिनकी जांच की जा रही हैं। अतिरिक्त पुलिस महानिदेशक (कानून-व्यवस्था) आलोक कुमार ने कहा कि हमने उन्हें कल शाम हिरासत में लिया था और पूछताछ के बाद हमने उन्हें गिरफ्तार कर लिया है। हम उन्हें अदालत के सामने पेश करेंगे, पुलिस हिरासत की मांग करेंगे और मामले में आगे की जांच पड़ताल करेंगे।

इसे भी पढ़ें: भाजपा कार्यकर्ता की हत्या को लेकर कर्नाटक में तनाव, मुख्यमंत्री बोम्मई ने नड्डा के साथ होने वाला कार्यक्रम किया रद्द

खुद राज्य के मुख्यमंत्री बसवराज बोम्मई ने बेंगलुरु में कहा था कि अगर स्थिति की मांग होती है तो उत्तर प्रदेश के ‘योगी मॉडल’ को कर्नाटक में भी अपनाया जाएगा ताकि अशांति पैदा करने की कोशिश कर रही देश विरोधी और सांप्रदायिक ताकतों से निपटा जा सके। आपको बता दें कि भाजपा के गढ़ दक्षिण कन्नड़ में कार्यकर्ता की हत्या के बाद मुख्यमंत्री बसवराज बोम्मई ने बुधवार देर रात ऐलान किया था कि वह अपनी सरकार के एक साल पूरे होने का जश्न नहीं मनाएंगे। इस कार्यक्रम में भाजपा अध्यक्ष जेपी नड्डा भी शामिल होने वाले थे। भाजपा के वरिष्ठ नेता कार्यकर्ताओं को फिलहाल मनाने में जुटे हुए हैं। कार्यकर्ताओं को इस बात का भरोसा दिया जा रहा है कि सरकार अपने स्तर पर इस हत्या में शामिल लोगों के खिलाफ सख्त कार्रवाई करेगी।

नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।

अन्य न्यूज़