भाजपा कार्यकर्ता की हत्या को लेकर कर्नाटक में तनाव, मुख्यमंत्री बोम्मई ने नड्डा के साथ होने वाला कार्यक्रम किया रद्द

Karnataka
ANI
रेनू तिवारी । Jul 28, 2022 9:04AM
कर्नाटक के मुख्यमंत्री बसवराज बोम्मई ने गुरुवार को अपनी सरकार के एक साल पूरे होने के उपलक्ष्य में आयोजित कई कार्यक्रमों को रद्द कर दिया। बोम्मई का फैसला मंगलवार को दक्षिण कन्नड़ में भाजपा युवा मोर्चा के एक सदस्य की हत्या के बाद आया है।

कर्नाटक के मुख्यमंत्री बसवराज बोम्मई ने गुरुवार को अपनी सरकार के एक साल पूरे होने के उपलक्ष्य में आयोजित कई कार्यक्रमों को रद्द कर दिया। बोम्मई का फैसला मंगलवार को दक्षिण कन्नड़ में भाजपा युवा मोर्चा के एक सदस्य की हत्या के बाद आया है। 

भाजपा नेता की हत्या से आहत कर्नाटक सीएम बसवराज बोम्मई ने रद्द की रैली

सीएम बसवराज बोम्मई ने बुधवार रात अपने आवास पर एक प्रेस कॉन्फ्रेंस बुलाई और घोषणा की कि उन्होंने डोड्डाबल्लापुर में एक मेगा रैली 'जनोत्सव' रद्द कर दिया है, जिसमें भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष जे पी नड्डा शामिल होने वाले थे। उन्होंने यह भी कहा कि सरकार ने राष्ट्र विरोधी और आतंकवादी ताकतों को खत्म करने के लिए राज्य में विशेष रूप से प्रशिक्षित कमांडो फोर्स बनाने का फैसला किया है। बोम्मई ने कहा, "इस हत्या के बाद हमारे दिलों में गुस्सा है। शिवमोग्गा में हर्ष (बजरंग दल के कार्यकर्ताओं) की हत्या के कुछ महीनों के भीतर की इस घटना ने मुझे पीड़ा दी है।"

इसे भी पढ़ें: पर्यावरण मुद्दों पर बैंकों के बोर्ड स्तर के प्रबंधन की भागीदारी अपर्याप्त: रिजर्व बैंक सर्वे

कर्नाटक सरकार के तीन साल पूरे होने पर निकाली जाने वाली थी रैली

उन्होंने आगे कहा कि मेरी सरकार ने एक साल पूरा किया और बी एस येदियुरप्पा के सत्ता में आने के बाद भाजपा के शासन के तीन साल हो गए हैं। हमने जनोत्सव की योजना बनाई थी लेकिन पीड़िता की मां और परिवार के दर्द को देखते हुए, मैंने कल के कार्यक्रमों को रद्द करने का फैसला किया है। भाजपा के प्रदेश अध्यक्ष नलिन कुमार कतील और उनके कैबिनेट सहयोगियों के साथ मुख्यमंत्री ने कहा कि हालांकि, वह गरीबों, पिछड़े समुदायों और युवाओं के लिए कार्यक्रमों के संबंध में एक संवाददाता सम्मेलन को संबोधित करेंगे। उन्होंने कहा, मैं उन लोगों से माफी मांगता हूं जो गुरुवार को कार्यक्रमों में शामिल होने के लिए उत्सुक थे, साथ ही पार्टी के नेताओं, मंत्रियों और कार्यकर्ताओं से जिन्होंने इसे आयोजित करने के लिए काम किया था। हमें इसे रद्द करना पड़ा क्योंकि मेरी अंतरात्मा ने इसे मंजूरी नहीं दी।" नड्डा को अवगत करा दिया गया है।

इसे भी पढ़ें: दूरसंचार प्रदाताओं द्वारा 2022-23 में 5जी मोबाइल सेवा प्रारंभ करने की संभावना : सरकार

बेरहमी से हुई भाजपा युवा इकाई के सदस्य की हत्या 

भारतीय जनता पार्टी के युवा मोर्चा के एक नेता की हत्या के बाद बुधवार को दक्षिण कन्नड़ जिले में कई स्थानों पर तनाव उत्पन्न हो गया। कई जगहों पर पथराव और पुलिस द्वारा लाठीचार्ज किए जाने की खबरें आयी हैं। राज्य सरकार ने हत्या के लिए जिम्मेदार व्यक्तियों अथवा संगठनों को कठोर दंड देने का आश्वासन दिया है। पुलिस ने मामला दर्ज कर लिया है और मुख्यमंत्री बसवराज बोम्मई ने कहा कि अगर जरूरत पड़ी तो राज्य सरकार मामले को राष्ट्रीय अन्वेषण अभिकरण (एनआईए) को सौंपने में हिचकिचाएगी नहीं। संघ परिवार ने हत्या के विरोध में बुधवार को पुत्तुर, कदाबा और सुलिया तालुक में बंद का आह्वान किया। गौरतलब है कि मंगलवार रात को जिला भाजपा युवा मोर्चा समिति के सदस्य प्रवीन नेत्तारू की बेल्लारे में उसकी दुकान के सामने मोटरसाइकिल सवार तीन अज्ञात हमलावरों ने हत्या कर दी थी। पुलिस ने बताया कि दक्षिण कन्नड़ जिले के बेल्लारे का रहने वाला नेत्तारू मंगलवार देर शाम को अपनी दुकान बंद करने के बाद घर जा रहा था, तभी अज्ञात हमलावरों ने उस पर हमला कर दिया। उसने बचकर भागने की कोशिश की लेकिन सिर पर वार किए जाने के कारण वह जमीन पर गिर गया। स्थानीय निवासियों ने तुरंत पुलिस को इसकी सूचना दी।

दक्षिण कन्नड़ में भाजपा के युवा नेता की हत्या से तनाव

पुलिस घटनास्थल पर पहुंची और खून से लथपथ नेत्तारू को अस्पताल लेकर गयी, जहां चिकित्सकों ने बताया कि अस्पताल लाने से पहले ही उसकी मौत हो गयी है। इस घटना से आक्रोशित भाजपा और संघ परिवार के समर्थकों तथा कार्यकर्ताओं ने सरकार पर अपना गुस्सा निकाला और आरोप लगाया कि वह हिंदू कार्यकर्ताओं के जीवन की रक्षा के लिए कुछ नहीं कर रही है। इस पर मुख्यमंत्री बोम्मई ने आश्वासन दिया कि दोषियों को जल्द ही गिरफ्तार किया जाएगा और उन्हें कड़ी सजा दी जाएगी और कहा कि ‘‘इसमें कोई संदेह नहीं है।’’ पुलिस ने बेल्लारे थाने में हत्या का मामला दर्ज कराया है और विभिन्न पहलुओं से जांच करने तथा दोषियों को पकड़ने के लिए चार दलों का गठन किया है। एक वरिष्ठ पुलिस अधिकारी ने बताया कि पुलिस थाने में कुछ लोगों से पूछताछ की जा रही है। हत्या के बाद कुछ स्थानों पर सरकारी बसों पर पथराव किए जाने की घटनाएं हुईं। बोलवार में पुत्तुरू से मेंगलुरु जा रही बस पथराव से क्षतिग्रस्त हो गई। 

भाजपा कार्यकर्ता का शव एक एम्बुलेंस में उसके पैतृक स्थान नेत्तारू ले जाया गया जहां उसका अंतिम संस्कार किया गया। मृतक की पत्नी ने एक स्थानीय टेलीविजन चैनल से बातचीत में कहा कि उनके पति निर्दोष थे और किसी भी बेगुनाह के साथ इस प्रकार का ‘‘अन्याय’’ नहीं होना चाहिए जैसा उनके साथ हुआ है। उन्होंने कहा, ‘‘ मेरे और उनके माता पिता के मना करने के बावजूद वह दिन रात लोगों और समाज के लिए काम करते थे। मैंने आज उन्हें खो दिया, उन्हें कौन वापस लाएगा। उन्होंने समाज के लिए सब कुछ किया ,लेकिन समाज उन्हें बचा नहीं पाया....। मैं नहीं चाहती कि कोई भी ऐसा व्यक्ति जो समाज के लिए काम करता हो उसकीपत्नी अथवा माता पिता मेरी तरह ये दिन देखें। इस संबंध में कदम उठाए जाने चाहिए।’’ अंतिम संस्कार से पहले विभिन्न हिंदू संगठनों के सैकड़ों युवा कार्यकर्ता ‘‘हम न्याय चाहते हैं’’ के नारे लगाते हुए बेल्लारे में एकत्रित हो गए। पुलिस को पथराव की घटनाओं के बाद उग्र भीड़ को काबू में करने के लिए लाठीचार्ज करना पड़ा। 

हिंदू कार्यकर्ता भाजपा नेताओं पर भड़के

भाजपा नेता को अंतिम विदाई देने पहुंचे दक्षिण कन्नड़ के जिला प्रभारी सुनील कुमार, भाजपा की प्रदेश इकाई के अध्यक्ष नलिन कुमार कटील और राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के नेता कल्लादका प्रभाकर भट को लोगों ने घेर लिया। आक्रोशित युवाओं ने कटील की बताई जा रही कार को भी क्षतिग्रस्त करने की कोशिश की। लेकिन वरिष्ठ नेताओं के हस्तक्षेप करने पर वे वहां से चले गए लेकिन उन्होंने कार का टायर पंक्चर कर दिया। इस हत्या के बाद साम्प्रदायिक रूप से संवेदनशील जिले में सुरक्षा बढ़ा दी गयी है। पुलिस ने दोषियों को पकड़ने के लिए चार दल गठित किए हैं। इस घटना के साम्प्रदायिक रंग लेने का खतरा है। दक्षिणपंथी संगठनों ने संदेह जताया है कि यह हत्या हाल में इसी इलाके में अल्पसंख्यक समुदाय के एक अन्य युवक की हत्या का प्रतिशोध है। बाद में पत्रकारों से बातचीत में बोम्मई ने कहा कि चूंकि यह घटना केरल सीमा के समीप हुई है इसलिए कर्नाटक पुलिस वहां अपने समकक्ष से संपर्क में है। 

उन्होंने कहा, ‘‘मेंगलुरु के पुलिस अधीक्षक कासरगोड में अपने समकक्ष के संपर्क में हैं और राज्य के डीजी ने केरल के डीजी से बात की है...हम जल्द ही उन्हें पकड़ लेंगे, हमने इसे गंभीरता से लिया है।’’ मुख्यमंत्री ने कहा कि शुरुआत में यह ‘‘पूर्व नियोजित’’ लगता है और अन्य मामलों से इसकी समानताएं मिलती हैं, जिसका अध्ययन किया जा रहा है। उन्होंने कहा, ‘‘हम इसकी जड़ तक जाएंगे।’’ इस घटना से कुछ महीनों पहले शिवमोगा में एक गिरोह ने बजरंग दल के 28 वर्षीय कार्यकर्ता की हत्या कर दी थी। गृह मंत्री अरागा ज्ञानेंद्र ने कहा कि उन्होंने घटना के बारे में मुख्यमंत्री से बात की है और पुलिस को आवश्यक निर्देश दिए हैं। उन्होंने बताया कि अतिरिक्त पुलिस महानिदेशक पद का एक वरिष्ठ अधिकारी मेंगलुरु जाएगा और जांच की निगरानी करेगा तथा आवश्यक कदम उठाएगा। दोषियों को पकड़ने के साथ ही कानून एवं व्यवस्था बनाए रखने के प्रयास भी किए जा रहे हैं। 

गृह मंत्री ने कहा, ‘‘यह स्वाभाविक है कि एक युवा व्यक्ति को खोने को लेकर आक्रोश होगा लेकिन मैं शांति बनाए रखने का अनुरोध करता हूं।’’ मुख्यमंत्री के सचिव एवं विधायक एम पी रेणुकाचार्य ने हत्यारों के खिलाफ सख्त कार्रवाई नहीं होने पर इस्तीफा देने की धमकी दी है। उन्होंने कहा कि उनके लिए पद से ज्यादा महत्वपूर्ण हिंदू कार्यकर्ताओं का जीवन है। वह दावणगेरे जिले से होनाली का प्रतिनिधित्व करते हैं। भाजपा युवा मोर्चा के मंडल अध्यक्षों और कार्यकर्ताओं के चिक्कमंगलुरु तथा अन्य स्थानों पर अपने पदों से इस्तीफा देने की भी खबरें हैं।

पुलिस को बिना पक्षपात के कार्रवाई करनी चाहिए : सिद्धरमैया

भारतीय जनता पार्टी युवा मोर्चा के एक सदस्य की हत्या की निंदा करते हुए कर्नाटक में विपक्ष के नेता व पूर्व मुख्यमंत्री सिद्धरमैया ने बुधवार को पुलिस से कहा कि वह बिना किसी पक्षपात के दोषियों के खिलाफ कार्रवाई करे। भाजपा युवा मोर्चा की जिला समिति के सदस्य प्रवीण नेत्तार की बाइक सवार हमलावरों ने मंगलवार की रात दक्षिण कर्नाटक जिले के बेल्लारी में उनके भाई की दुकान के सामने हत्या कर दी थी। सिद्धरमैया ने ट्वीट किया, ‘‘मैं बजरंग दल के नेता प्रवीण नेत्तारू की दक्षिण कन्नड़ में हुई हत्या की निंदा करता हूं। पुलिस को तत्काल हत्यारों को गिरफ्तार करना चाहिए और क्षेत्र को अशांति से बचाना चाहिए। पुलिस को बिना किसी पक्षपात के दोषियों के खिलाफ कार्रवाई करनी चाहिए।’’ 

वहीं, पूर्व मुख्यमंत्री व जनता दल सेक्युलर के नेता एच. डी. कुमारस्वामी ने सवाल किया कि हत्याओं का यह सिलसिला कब रूकेगा। उन्होंने फरवरी में शिवमोगा में हुई बजरंग दल के कार्यकर्ता हर्ष की हत्या पर कोई कार्रवाई नहीं किए जाने को लेकर भी भारतीय जनता पार्टी नीत सरकार से सवाल किया। उन्होंने ट्वीट किया, ‘‘....भाजपा सरकार ऐसी हत्याओं को रोकने के लिए प्रयास क्यों नहीं कर रही है, वह ऐसी घटनाएं होने के बाद सक्रिय क्यों हो रही है?’’ कुमारस्वामी ने यह भी कहा कि चुनाव नजदीक आते ही ऐसे खूनी खेल शुरू हो जाते हैं। उन्होंने कहा कि हमेशा गरीब घरों के बच्चे ही ऐसी हत्याओं के शिकार होते हैं।

नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।

अन्य न्यूज़