नियाज खान ने विवेक अग्निहोत्री को लेकर दिया बड़ा बयान, कहा- मैं एक IAS अधिकारी हूं, किसी डायरेक्टर से मिलने नहीं जाऊंगा

नियाज खान ने विवेक अग्निहोत्री को लेकर दिया बड़ा बयान, कहा- मैं एक IAS अधिकारी हूं, किसी डायरेक्टर से मिलने नहीं जाऊंगा

डायरेक्टर विवेक अग्निहोत्री ने नियाज खान से मिलने की इच्छा जताई थी। मुस्लिम नरसंहार पर फिल्म बनाने के नियाज खान के ट्वीट के बाद विवेक अग्निहोत्री ने मिलने का अपॉइंटमेंट मांगा था। चित्र भारती फिल्म फेस्टिवल में शामिल होने के लिए विवेक अग्निहोत्री आज भोपाल आए हुए हैं।

भोपाल। द कश्मीर फाइल्स फिल्म को लेकर आईएएस नियाज खान और डायरेक्टर विवेक अग्निहोत्री के बीच शुरू हुआ विवाद लगातार जारी है। आज दोनों के बीच भोपाल में मुलाकात की तारीख तय हुई थी। जिसे लिए नियाज खान ने कहा कि मैं एक आईएएस अधिकारी हूं। मैं किसी डायरेक्टर से मिलने नहीं जाऊंगा। जिसको मेरे से मिलना है वे मंत्रालय आकर मिल सकता है।

दरअसल डायरेक्टर विवेक अग्निहोत्री ने नियाज खान से मिलने की इच्छा जताई थी। मुस्लिम नरसंहार पर फिल्म बनाने के नियाज खान के ट्वीट के बाद विवेक अग्निहोत्री ने मिलने का अपॉइंटमेंट मांगा था। चित्र भारती फिल्म फेस्टिवल में शामिल होने के लिए विवेक अग्निहोत्री आज भोपाल आए हुए हैं।

इसे भी पढ़ें:शिवराज कैबिनेट की 2 दिवसीय चिंतन बैठक, गृह मंत्री नरोत्तम मिश्रा ने दी जानकारी 

आपको बता दें कि नियाज खान PWD में डिप्टी सेक्रेटरी के पद पर पदस्थ हैं। फिल्म ‘द कश्मीर फाइल्स’ की तरह गोधरा कांड पर भी फिल्म बनाने की मांग थी। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को लेकर बयान जारी किया था। मुस्लिम कीड़े नहीं, उनके नरसंहार पर भी फिल्म बनाई जाए ऐसा भी कहा था। गुरुवार को आईएएस नियाज खान को शिवराज सरकार ने नोटिस जारी किया है।

वहीं सरकार ने नोटिस मिलने के बाद नियाज खान ने फिर ट्वीट में लिखा कि आप कुरान में गहरी आस्था रखते हैं और सभी के लिए प्यार करते हैं तो आपका दिल स्टील बन जाता है। हमेशा न्याय के साथ खड़े रहो, ईश्वर तुम्हें शक्ति देगा। आगे उन्होंने लिखा है कि इंसान से नहीं सिर्फ भगवान से डरो अल्लाह को बहादुरी पसंद है।





नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।