नीतीश ने राजस्व एवं ऑनलाइन भूमि दखल-कब्जा प्रमाण पत्र की सुविधा का किया शुभारंभ

  •  प्रभासाक्षी न्यूज नेटवर्क
  •  अगस्त 28, 2020   12:03
नीतीश ने राजस्व एवं ऑनलाइन भूमि दखल-कब्जा प्रमाण पत्र की सुविधा का किया शुभारंभ

मुख्यमंत्री द्वारा आज उदटित की गयी योजनाओं में 61.21 करोड़ रुपये की लागत से समस्तीपुर में पांच लाख लीटर दैनिक क्षमता के डेयरी संयंत्र का निर्माण, राज्य के सहकारी तंत्र के अंतर्गत भोजपुर के बिहियां में 39.51 करोड़ रुपये की लागत से 300 मीट्रिक टन दैनिक क्षमता के पशु आहार संयंत्र का निर्माण शामिल है।

पटना।  बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने बृहस्पतिवार को राजस्व एवं भूमि सुधार विभाग की ऑनलाइन भूमि दखल-कब्जा प्रमाण पत्र की सुविधा का शुभारंभ किया। मुख्यमंत्री सचिवालय स्थित संवाद कक्ष से वीडियो कांफ्रेंस के माध्यम नीतीश ने इस सुविधा की शुरुआत की। इस सुविधा के शुभारंभ से लोगों को आसानी से भू-स्वामित्व प्रमाण पत्र उपलब्ध हो सकेगा साथ ही कहीं से भी लोग इस सुविधा का लाभ उठा सकेंगे। इससे जहां भूमि विवादों की समस्या कम होगी, वहीं सरकारी कार्यालयों के चक्कर लगाने से भी लोगों को मुक्ति मिलेगी और घर बैठे प्रमाण-पत्र आसानी से मिल सकेगा। इससे पूर्व मुख्यमंत्री सचिवालय स्थित संवाद कक्ष से ही वीडियो कांफ्रेंस के माध्यम नीतीश ने बिहार राज्य दुग्ध सहकारी संघ लिमिटेड के दुग्ध संयंत्र, पशु आहार कारखाना एवं अन्य उपकरणों का भी उद्घाटन, शिलान्यास तथा सुधा के नए उत्पादों का भी शुभारम्भ किया।

मुख्यमंत्री द्वारा आज उदटित की गयी योजनाओं में 61.21 करोड़ रुपये की लागत से समस्तीपुर में पांच लाख लीटर दैनिक क्षमता के डेयरी संयंत्र का निर्माण, राज्य के सहकारी तंत्र के अंतर्गत भोजपुर के बिहियां में 39.51 करोड़ रुपये की लागत से 300 मीट्रिक टन दैनिक क्षमता के पशु आहार संयंत्र का निर्माण शामिल है। इसके ही राष्ट्रीय डेयरी विकास कार्यक्रम के तहत 1288.56 लाख रुपये की लागत से 364 मिल्कोस्क्रीन मशीनों की स्थापना एवं 313.67 लाख रुपये की लागत से 15 हजार लीटर क्षमता के 14 रोड मिल्क टैंकरों का क्रय, 857.12 लाख रुपये की लागत से राष्ट्रीय डेयरी विकास कार्यक्रम के तहत डेयरी संयंत्रों का सुदृढ़ीकरण, एफटीआईआर तकनीक पर आधारित 900.81 लाख रुपये की लागत से 11 मिल्क एनालाईजर की खरीद, राष्ट्रीय गोवंश कार्यक्रम के तहत 434 लाख रुपये की लागत से 434 नए मैत्री (कृत्रिम गर्भाधान) केंद्र की स्थापना के अलावा अन्य संयंत्र, उपकरण की स्थापना एवं खरीद भी सम्मिलित हैं। 

इसे भी पढ़ें: नीतीश ने किया 30 परियोजनाओं का उद्घाटन, लोकार्पण, शिलान्यास एवं कार्यारंभ

मुख्यमंत्री ने बिहार राज्य दुग्ध सहकारी संघ लिमिटेड की दो योजनाओं का आज शिलान्यास किया। इसमें गया में 26 करोड़ रुपये की लागत से 2 लाख लीटर दैनिक क्षमता की डेयरी की स्थापना एवं हाजीपुर औद्योगिक क्षेत्र , वैशाली में 52.59 करोड़ रुपये की लागत से चार लाख लीटर दैनिक क्षमता की डेयरी की स्थापना शामिल है। इसके अलावा मुख्यमंत्री ने कॉम्फेड के नए उत्पादों का भी आज शुभारम्भ किया।





Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।


नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।