कांग्रेस नेताओं की रैली में संवेदनाएं कम राजनीति ज्यादा, भरमौर के विकास में आज से पहले किसी सरकार ने नहीं खर्च किया इतना पैसा : जयराम ठाकुर

कांग्रेस नेताओं की रैली में संवेदनाएं कम राजनीति ज्यादा, भरमौर के विकास में आज से पहले किसी सरकार ने नहीं खर्च किया इतना पैसा  : जयराम ठाकुर

मुख्यमंत्री कहा कि हमने भी रामस्वरूप शर्मा को खोया है। हमें वीरभद्र सिंह, नरेंद्र बरागटा, सुजान सिंह पठानिया के जाने का दुख है। क्या हमें भावनाओं में बहकर काम करना है? भरमौर विधानसभा को विकास की आवश्यकता है। विकास का काम तब किया जा सकता है जब केंद्र और हिमाचल में बीजेपी की सरकार को मजबूत किया जाए।

भरमौर। कांग्रेस नेताओं की रैली में संवेदनाएं व सत्यता कम और राजनीति ज्यादा है। विपक्ष पर यह कटाक्ष मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर ने भरमौर में किया। सीएम जयराम ठाकुर ने बुधवार को भरमौर में मंडी संसदीय सीट से बीजेपी प्रत्याशी खुशाल ठाकुर के लिए चुनावी जनसभा को संबोधित किया।

मुख्यमंत्री ने कहा,  वीरभद्र सिंह हमारे बीच नहीं हैं, हमें उनकी कमी महसूस होती है। मेरी संवेदनाएं उनके परिवार के साथ हैं। ईश्वर उनके परिवार को इस दुख की घड़ी को सहने की शक्ति दे।" इसके बाद उन्होंने हाल ही में भरमौर में हुई कांग्रेस नेताओं की रैली पर कटाक्ष किया। जयराम ठाकुर ने कहा कि हालांकि कुछ दिन पहले यहां कांग्रेस के नेताओं ने भी रैली की। लोग कह रहे हैं कि उनके नेता जिस तरह से रैली में व्यवहार कर रहे हैं, उसमें सत्यता व संवेदनाएं कम और राजनीति ज्यादा है।

इसे भी पढ़ें: हजारों की तादाद में पडोसी राज्यों से आये श्रद्धालु दुर्गाष्टमी पर ज्वालामुखी में नतमस्तक

मुख्यमंत्री कहा कि हमने भी रामस्वरूप शर्मा को खोया है। हमें वीरभद्र सिंह, नरेंद्र बरागटा, सुजान सिंह पठानिया के जाने का दुख है। क्या हमें भावनाओं में बहकर काम करना है? भरमौर विधानसभा को विकास की आवश्यकता है। विकास का काम तब किया जा सकता है जब केंद्र और हिमाचल में बीजेपी की सरकार को मजबूत किया जाए।

जयराम ठाकुर ने कहा, “भरमौर भौगोलिक दृष्टि से काफी कठिन है। ये इलाका मेरे सिराज विधानसभा जितना कठिन है। जब से भारतीय जनता की पार्टी की सरकार बनी है, यहां विकास ने बहुत गति पकड़ी है। भरमौर विधानसभा में पिछले दौरे में ही एकसाथ 456 करोड़ के उद्घाटन और शिलान्यास कार्यक्रम किए थे। भरमौर विधानसभा क्षेत्र के विकास के लिए आज पहले इतना पैसा किसी सरकार ने नहीं दिया। कोविड संकट के बावजूद भरमौर में हमने विकास कार्यों को थमने नहीं दिया। 

इसे भी पढ़ें: कांग्रेस प्रवक्ता बोले-भृष्टाचारियों को संरक्षण देने वाली भाजपा सरकार दूसरों को चरित्र प्रमाणपत्र बांट रही

इस दौरान मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर ने पूर्व सांसद स्वर्गीय रामस्वरूप शर्मा को भी याद किया। उन्होंने कहा कि भरमौर से 2019 के लोकसभा चुनाव में 20 हजार वोट की बढ़त रामस्वरूप शर्मा को मिली थी। शायद ये आज तक के सभी लोकसभा चुनाव में भरमौर से सबसे बड़ी लीड थी।

इससे पहले बीजेपी प्रत्याशी ब्रिगेडियर खुशाल ठाकुर ने जनसभा को संबोधित किया। उन्होंने सबसे पहले पूर्व सांसद पंडित रामस्वरूप शर्मा, पूर्व सीएम वीरभद्र सिंह को श्रद्धांजलि दी। उन्होंने कहा कि भारतीय जनता पार्टी ने एक पूर्व सैनिक को सम्मान दिया है। उन्होंने कांग्रेस प्रत्याशी प्रतिभा सिंह के कारगिल युद्ध पर दिए बयान पर कहा, “ये कहा गया कि कारगिल तो छोटा-मोटा युद्ध था। कारगिल में देश के 527 और हिमाचल के 52 रणबांकुरे शहीद हुए। मेरी 18 ब्रिगेडियर के 34 जवान शहीद हुए। ऐसे युद्ध पर भी इस तरह की टिप्पणी की गई। वो बयान इन सभी वीरों और शहीदों का अपमान है।"

इसे भी पढ़ें: शारदीय नवरात्रि में दुर्गा अष्टमी --नवरात्रि के आठवें दिन मां महागौरी की पूजा की जाती है

मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर ने कहा कि कुछ लोग बोल रहे थे कि भरमौर में मुश्किल आएगी,  यहां वीरभद्र सिंह जी के समर्थक हैं।   मैं उन्हें बताना चाहता हूं कि यहां तो मोदी जी के भी समर्थक हैं। ब्रिगेडियर खुशाल ठाकुर को सांसद चुनकर मोदी जी के पास भेजना है। मुख्यमंत्री ने कहा कि हमारा अब तक का कार्यकाल परीक्षा के दौर से गुजर गया, जिसमें हम पास ही होते रहे। अब इस चुनावी परीक्षा को भी आप सबके सहयोग और समर्थन से पास करेंगे।





नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।

Prabhasakshi logoखबरें और भी हैं...

राष्ट्रीय

झरोखे से...