नरेन्द्र मोदी ने सिख भाइयों के हित में जितने कार्य किये , उतने किसी ने नहीं किये : कश्यप

नरेन्द्र मोदी ने सिख भाइयों के हित में जितने कार्य किये , उतने किसी ने नहीं किये : कश्यप

कश्यप ने कहा कि पहले लंगर पर भी टैक्स लगता था , इसे टैक्स फ्री करने का काम हमारे प्रधानमंत्री ने किया है । आजादी से लेकर 70 सालों तक डेरा नानक साहब और करतारपुर साहिब का दर्शन करने का अवसर हमारे सिख भाइयों को नहीं मिल पाया था , यह रास्ता अब तक नहीं मिल पाया था लेकिन माननीय प्रधानमंत्री जी की प्रेरणा से 120 करोड़ रुपये की निधि से यह कॉरिडोर बन कर तैयार हुआ

शिमला ।  भाजपा प्रदेश अध्यक्ष एवं सांसद सुरेश कश्यप ने सिख धर्म के संस्थापक और प्रथम गुरु गुरु नानक देव के प्रकाश पर्व पर शुभकामनाएं देते हुए कहा कि हमारे प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने सिख भाइयों के हित में जितने कार्य किये , उतने किसी ने नहीं किये । विपक्ष का काम केवल सिख भाइयों को गुमराह करना रह गया है । 

उन्होंने कहा श्री हरमंदिर साहिब को फॉरेन कंट्रीब्यूशन लेने का पहले कोई प्रावधान नहीं था लेकिन आदरणीय प्रधानमंत्री की प्रेरणा से एफसीआरए रजिस्ट्रेशन ग्रांट हुआ और अब श्री श्री हरमंदिर साहिब को विदेशी योगदान मिलना शुरू हो गया है । यह कार्य माननीय प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के समय में हुआ जबकि कई सिख भाई भी शासन में आये थे लेकिन ये कार्य न हो सका । 

कश्यप ने कहा कि पहले लंगर पर भी टैक्स लगता था , इसे टैक्स फ्री करने का काम हमारे प्रधानमंत्री ने किया है । आजादी से लेकर 70 सालों तक डेरा नानक साहब और करतारपुर साहिब का दर्शन करने का अवसर हमारे सिख भाइयों को नहीं मिल पाया था , यह रास्ता अब तक नहीं मिल पाया था लेकिन माननीय प्रधानमंत्री जी की प्रेरणा से 120 करोड़ रुपये की निधि से यह कॉरिडोर बन कर तैयार हुआ और सिख भाइयों को डेरा नानक साहब और करतारपुर साहिब का दर्शन करने का मार्ग प्रशस्त हुआ । गुरु गोविंद सिंह के 350 वें प्रकाश पर्व को धूमधाम के साथ पूरे देश में मनाया गया । इसके लिए नरेन्द्र मोदी सरकार ने 100 करोड़ रुपये की व्यवस्था की । साथ ही , रेलवे ने भी 40 करोड़ रुपये की अलग से व्यवस्था कर इसमें अपना योगदान दिया । 

इसे भी पढ़ें: ग्रामीण क्षेत्रों के सामाजिक-आर्थिक विकास में सहकारी समितियों की महत्वपूर्ण भूमिका- मुख्यमंत्री

उन्होंने कहा कि गुजरात के जामनगर में माननीय प्रधानमंत्री ने 750 बेड का एक अस्पताल सिख भाइयों को समर्पित किया । 1984 से ब्लैकलिस्ट में से कई लोगों के नाम हटाये जाने की मांग सिख भाइयों की थी लेकिन आज तक यह कार्य न हुआ । माननीय प्रधानमंत्री की दृढ़ इच्छाशक्ति से ब्लैकलिस्ट से 314 नाम हटाये जा चुके हैं , अब उसमें केवल दो नाम रह गए हैं । हमारे सिख भाइयों के आंसू बह - बह के सूख गए लेकिन कांग्रेस की सरकारें 1984 के दंगों के दोषियों को सजा नहीं दिलवा पाई । हमारे प्रधानमंत्री ने एसआईटी बनाई और दोषियों को सलाखों के पीछे डालने का कार्य किया । ये माननीय प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी हैं जिन्होंने जालियांवाला बाग मेमोरियल का रिनोवेशन करवाया और इसे एक नए रूप में देश को समर्पित किया ।





नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।