चंद्रबाबू नायडू की मुश्किलें नहीं हो रही खत्म, ड्रीम होम के बाद अब इस घर पर चलेगा बुलडोजर!

  •  प्रभासाक्षी न्यूज नेटवर्क
  •  सितंबर 22, 2019   11:53
चंद्रबाबू नायडू की मुश्किलें नहीं हो रही खत्म, ड्रीम होम के बाद अब इस घर पर चलेगा बुलडोजर!

बता दें कि ''प्रजा वेदिका’ का निर्माण पिछली तेलुगू देशम पार्टी सरकार द्वारा एन. चंद्रबाबू नायडू के आधिकारिक निवास के बगल में किया गया था। इसका उपयोग सरकार और पार्टी गतिविधियों दोनों के लिए किया जा रहा था।

अमरावती। आंध्र प्रदेश सरकार ने पूर्व मुख्यमंत्री एन चंद्रबाबू नायडू द्वारा लीज पर लिए गए अवैध रिवर फ्रंट बंगले को ‘हटाने’ के लिए शनिवार को फिर से नोटिस जारी किया। आंध्र प्रदेश राजधानी क्षेत्र विकास प्राधिकरण ने बंगले के मालिक एल रमेश को यह नोटिस जारी किया है और सात दिनों के भीतर इसे हटाने का आदेश दिया है। इस आशय का एक आदेश कल रात बंगले की दीवारों पर चिपकाया गया था। इस नोटिस के बारे में शनिवार को जानकारी मिली क्योंकि पूर्व मुख्यमंत्री हैदराबाद में थे।

इसे भी पढ़ें: चंद्रबाबू और बेटे लोकेश को किया गया नजरबंद, YSRCP के विरोध में कर रहे भूख हड़ताल

बता दें कि 'प्रजा वेदिका’ का निर्माण पिछली तेलुगू देशम पार्टी (TDP) सरकार द्वारा एन. चंद्रबाबू नायडू के आधिकारिक निवास के बगल में किया गया था। इसका उपयोग सरकार और पार्टी गतिविधियों दोनों के लिए किया जा रहा था।

इसे भी पढ़ें: हार से अब तक नहीं उबरे, चुनाव ही नहीं शायद हिम्मत भी हार गया है समूचा विपक्ष

गौरतलब है कि चंद्रबाबू नायडू के अमरावती स्थित घर से सटी इमारत प्रजा वेदिका को इसी साल जून के महीने में तोड़ दिया गया था। इस इमारत को गिराने का आदेश राज्य के नए मुख्यमंत्री जगन मोहन रेड्डी ने दिए थे। उन्होंने कहा था कि यह इमारत गैर-कानूनी है और ऐसी सभी इमारतों को गिराने के लिए चलाए गए अभियान के तहत सबसे पहले प्रजा वेदिका को तोड़ा गया था।





Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।


नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।