मातोश्री में 37 साल तक की सेवा, अब शिंदे खेमे में शामिल हुए बाल ठाकरे के सहायक चंपा सिंह थापा

 Champa Singh Thapa
@mieknathshinde
अभिनय आकाश । Sep 26, 2022 7:05PM
थापा ने लंबे समय तक ठाकरे की सेवा की और मातोश्री के उन लोगों में से एक थे जो शिवसेना के संस्थापक के करीबी थे। उन्हें हर मौके पर ठाकरे के साथ देखा जा सकता था और 2012 में उन्हें बाल ठाकरे के अंतिम संस्कार में उद्धव ठाकरे के साथ देखा गया था।

महाराष्ट्र के पूर्व मुख्यमंत्री और शिवसेना प्रमुख उद्धव ठाकरे की मुश्किलें लगातार बढ़ती ही जा रही है। लगातार उन्हें झटके पर झटके मिल रहे हैं। सत्ता गंवाने के बाद नेताओं के उनके समर्थन वाले शिवसेना को छोड़कर जाने का सिलसिला तो लगातार जारी ही है। अब बाला साहब के करीबी सहायक ने भी उद्धव का साथ छोड़ दिया है। दिवंगत बाल ठाकरे के सहायक रहे चंपा सिंह थापा महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री एकनाथ शिंदे के शिवसेना धड़े में शामिल हो गए।  ठाणे के तेम्बी नाका इलाके में शिंदे ने थापा का स्वागत और अभिनंदन किया। शिंदे नवरात्रि के जुलूस में शामिल होने गए थे। 

इसे भी पढ़ें: 'पाकिस्तान जिंदाबाद' के नारे पर एक्शन में शिंदे-फणवीस सरकार, CM बोले- शिवाजी की जमीन पर यह बर्दाश्त नहीं

थापा ने लंबे समय तक ठाकरे की सेवा की और मातोश्री के उन लोगों में से एक थे जो शिवसेना के संस्थापक के करीबी थे। उन्हें हर मौके पर ठाकरे के साथ देखा जा सकता था और 2012 में उन्हें बाल ठाकरे के अंतिम संस्कार में उद्धव ठाकरे के साथ देखा गया था। थापा ने मीडिया को बताया कि उन्होंने शिंदे का पक्ष लिया था क्योंकि मुख्यमंत्री बालासाहेब की विचारधारा का पालन करते थे। जब मीडिया ने पूछा कि क्या उन्हें उद्धव की विचारधारा पसंद नहीं है, तो थापा ने कहा, "मैं उनकी विचारधारा के बारे में नहीं जानता, लेकिन मुझे लगा कि मुझे शिंदे साहब से जुड़ना चाहिए। 

इसे भी पढ़ें: महाराष्ट्र : PFI के खिलाफ कार्रवाई कर विरोध कर रहे 60 से अधिक लोगों पर मुकदमा

थापा ने कहा कि इसलिए मैं यहां आया और उनसे जुड़ गया।" राजनीतिक विश्लेषकों का कहना है कि थापा का यह कदम भले ही उद्धव धड़े के लिए झटका न हो, लेकिन यह शिंदे खेमे की प्रतीकात्मक जीत है। राजनीतिक विश्लेषक मानते हैं कि इससे शिंदे खेमा यह दिखाने में सक्षम होगा कि उद्धव ठाकरे को छोड़कर बालासाहेब का सबसे करीबी भी उनके साथ हो गया है।

अन्य न्यूज़