पुलिस की नई पहल, अब कलर बैंड से फॉलो कराएंगे शादियों में गेस्ट की लिमिट

पुलिस की नई पहल, अब कलर बैंड से फॉलो कराएंगे शादियों में गेस्ट की लिमिट

पुलिस अधिकारियों ने बताया कि कलर बैंड हर दिन के हिसाब से अलग-अलग रंग में होंगे। इलाके के तमाम शादी हॉल औक होटल वालों को इस तरह की हिदायत दी जा रही है। पुलिस उन्हें बता रही है कि अगर इस नियम का उल्लंघन किया गया तो उनेक किलाफ मुकदमा दर्ज किया जाएगा।

दिल्ली में बढ़ते कोरोना महामारी को देखते हुए सरकार ने फिर से शादी में केवल 50 लोगों की लिमिट कर दी है। इसी को देखते हुए अब दिल्ली पुलिस ने गेस्ट की लिमिट को कंट्रोल में रखने के लिए कलर बैंड का इस्तेमाल किया है। दिल्ली की रजौरी गार्डन थाना पुलिस ने कलर बैंड सुविधा की शुरूआत की है। इस कलर बैंड को शादियों और पार्टियों में शामिल हुए गेस्ट के हाथों में पहनाया जाएगा। इस कलर बैंड को शादियों में शामिल होने वाले बारातियों और घरातियों के हाथों में एंट्री गेट पर ही पहनाए जाएंगे और जैसे ही इनकी संख्या 50 हो जाएगी पुलिस लोगो की एंट्री रोक देगी। 

इसे भी पढ़ें: कुछ न्यायिक फैसलों से प्रतीत होता है कि न्यायपालिका का हस्तक्षेप बढ़ा है : उपराष्ट्रपति

रजौरी गार्डन थाने के एसएचओ अनिल शर्मा द्वारा इस नए प्रोग्राम से कोरोना से लोगों को बचाया जाएगा। शादी में केवल 50 लोग ही शामिल हो इसके लिए इस प्रोग्राम को फॉलो किया जाएगा। पुलिस अधिकारियों ने बताया कि कलर बैंड हर दिन के हिसाब से अलग-अलग रंग में होंगे। इलाके के तमाम शादी हॉल औक होटल वालों को इस तरह की हिदायत दी जा रही है। पुलिस उन्हें बता रही है कि अगर इस नियम का उल्लंघन किया गया तो उनेक किलाफ मुकदमा दर्ज किया जाएगा।

इसे भी पढ़ें: शुक्र ग्रह पर जाएगा भारत का ‘शुक्रयान’, स्वीडन ने विशेष उपकरण देने का किया वादा

बता दें कि शादियों में लोगों की एंट्री एक ही गेट से की जाएगी। 50 लोगों की लिमिट में वेटर, हलवाई और वेन्यू के अन्य स्टाफ शामिल नहीं होंगे। शादी में सर्विस देने वाले तमाम कर्मचारियों के रैपिड कोरोना टेस्ट भी किए जाएंगे। इससे अधिक से अधिक लोगों को कोरोना संक्रमण से बचाया भी जा सकेगा। 





नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।

Prabhasakshi logoखबरें और भी हैं...

राष्ट्रीय

झरोखे से...