पूर्ण राज्य के मुद्दे पर AAP ने शीला दीक्षित से पूछा, क्या कांग्रेस के घोषणा पत्र झूठे थे

By प्रभासाक्षी न्यूज नेटवर्क | Publish Date: Mar 27 2019 8:24PM
पूर्ण राज्य के मुद्दे पर AAP ने शीला दीक्षित से पूछा, क्या कांग्रेस के घोषणा पत्र झूठे थे
Image Source: Google

राय ने कहा कि दीक्षित ने उस समय यह भी कहा था कि दिल्ली को पूर्ण राज्य बनाने पर ही दिल्ली सरकार शासन प्रशासन के विभिन्न स्तरों पर मिलजुल कर काम कर सकेगी।

नयी दिल्ली। आप ने दिल्ली के पूर्ण राज्य की मांग को कांग्रेस के चुनावी घोषणापत्र में शामिल नहीं करने के प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष शीला दीक्षित के बयान पर आश्चर्य जताते हुये पूछा है कि क्या कांग्रेस के पिछले दो घोषणापत्र झूठे थे। आप की दिल्ली इकाई के संयोजक गोपाल राय ने बुधवार को कहा, ‘‘अगर दिल्ली को पूर्ण राज्य का दर्जा नहीं दिया जा सकता तो 21 नवंबर 2013 को, दीक्षित ने बतौर मुख्यमंत्री, किस आधार पर दिल्ली को पूर्ण राज्य बनाने की बात कही थी।

भाजपा को जिताए

राय ने कहा कि दीक्षित ने उस समय यह भी कहा था कि दिल्ली को पूर्ण राज्य बनाने पर ही दिल्ली सरकार शासन प्रशासन के विभिन्न स्तरों पर मिलजुल कर काम कर सकेगी। उन्होंने पूछा कि अब ऐसी क्या मजबूरी है कि दीक्षित को अपनी ही बात से मुकरना पड़ रहा है। उल्लेखनीय है कि हाल ही में दीक्षित ने एक बयान में कहा कि दिल्ली को पूर्ण राज्य का दर्जा देना व्यवहारिक नहीं है। इसलिये इसे चुनावी मुद्दा बनाने से इंकार करते हुये उन्होंने कहा कि अब इस मांग को कांग्रेस अपने घोषणा पत्र में शामिल नहीं करेगी। 
 


 
राय ने कहा कि कांग्रेस को जनता के समक्ष यह स्पष्ट करना चाहिये कि अगर यह मांग व्यवहारिक नहीं है तो कांग्रेस ने 2013 और 2015 के अपने घोषणापत्र में दिल्ली को पूर्ण राज्य बनाने का वादा क्यों किया था। उन्होंने कहा शीला दीक्षित जी दिल्ली की जनता को यह कहकर गुमराह कर रही है कि पूर्ण राज्य का दर्जा लोकसभा चुनाव का मुद्दा नहीं हो सकता।
 

रहना है हर खबर से अपडेट तो तुरंत डाउनलोड करें प्रभासाक्षी एंड्रॉयड ऐप   


Related Story

Related Video