• नागालैंड में नाटकीय घटनाक्रम, सत्तारूढ़ गठबंधन में शामिल होगा विपक्षी एनपीएफ

एनपीएफ विधायक दल के प्रवक्ता इमकोंग एल. इमचेन ने इसकी पुष्टि करते हुए बताया कि मंगलवार को मुख्यमंत्री नेफ्यू रियो और विपक्षी नेता जेलियांग के बीच अन्य नेताओं की मौजूदगी में होने वाली बैठक के दौरान सभी प्रासंगिक दस्तावेज जमा किए जाएंगे।

कोहिमा। नागालैंड की राजनीति में एक नाटकीय घटनाक्रम हुआ है। राज्य विधानसभा में प्रमुख विपक्षी दल ‘नगा पीपुल्स फ्रंट’ (एनपीएफ) ने सत्तारूढ़ पीपुल्स डेमोक्रेटिक अलायंस (पीडीए) में शामिल होने की तैयारी कर ली है। यह जानकारी पार्टी पदाधिकारियों ने सोमवार को दी। विपक्षी नेता टी आर जेलियांग के नेतृत्व वाले एनपीएफ ने सत्तारूढ़ पीडीए में शामिल होने का फैसला किया है। एनपीएफ विधायक दल के प्रवक्ता इमकोंग एल. इमचेन ने इसकी पुष्टि करते हुए बताया कि मंगलवार को मुख्यमंत्री नेफ्यू रियो और विपक्षी नेता जेलियांग के बीच अन्य नेताओं की मौजूदगी में होने वाली बैठक के दौरान सभी प्रासंगिक दस्तावेज जमा किए जाएंगे। 

इसे भी पढ़ें: नागालैंड के विधायक तोशी वुंगटुंग का कोरोना वायरस से निधन, दिल्ली में चल रहा था इलाज 

उन्होंने बताया कि यह फैसला सोमवार को दीमापुर स्थित जेलियांग के आवास पर हुई पार्टी विधायकों की बैठक के दौरान लिया गया। हालांकि, यह स्पष्ट नहीं है कि इसका मतलब क्या एनपीएफ का सत्तारूढ़ पीडीए सहयोगी दलों एनडीपीपी और भाजपा में से किसी एक के साथ विलय होगा या केवल एक अलग पार्टी के रूप में गठबंधन में शामिल होना होगा। सत्तारूढ़ पीडीए में 34 सदस्य हैं, जिसमें 20 विधायकों के साथ नेशनलिस्ट डेमोक्रेटिक प्रोग्रेसिव पार्टी (एनडीपीपी), 12 भारतीय जनता पार्टी के विधायक हैं और 2 निर्दलीय विधायकों द्वारा समर्थित है। एनपीएफ में 25 विधायक हैं, जबकि एक सीट खाली है।