ओवैसी का आरोप, कांग्रेस ने रैली रद्द करने की एवज में रिश्वत देने की कोशिश की

  •  प्रभासाक्षी न्यूज नेटवर्क
  •  नवंबर 20, 2018   18:32
ओवैसी का आरोप, कांग्रेस ने रैली रद्द करने की एवज में रिश्वत देने की कोशिश की

आरोपों पर प्रतिक्रिया देते हुए रेड्डी ने इस इल्जाम को आधारहीन और झूठा करार दिया और कहा कि अगर ओवैसी इसे साबित कर दें तो वह राजनीति छोड़ देंगे।

हैदराबाद। एआईएमआईएम अध्यक्ष असदुद्दीन ओवैसी ने आरोप लगाया है कि निर्मल विधानसभा क्षेत्र से कांग्रेस प्रत्याशी ने हैदराबाद में टीआरएस के पक्ष में अपनी रैली रद्द करने की एवज में उन्हें 25 लाख रुपये की रिश्वत देने की कोशिश की हालांकि कांग्रेस नेता ने इस आरोप का खंडन किया है। सोमवार रात पार्टी द्वारा निर्मल में आयोजित एक जनसभा को संबोधित करते हुए ओवैसी ने आरोप लगाया कि ए महेश्वर रेड्डी ने एआईएमआईएम के एक नेता को फोन किया और उनसे कहा कि यदि वे इस सभा को आयोजित होने से रोकेंगे तो उनकी पार्टी को 25 लाख रुपये मिल सकते हैं ।हैदराबाद से लोकसभा सदस्य ने दावा किया कि उनके पास इस बातचीत की रिकॉर्डिंग भी है।

आरोपों पर प्रतिक्रिया देते हुए रेड्डी ने इस इल्जाम को आधारहीन और झूठा करार दिया और कहा कि अगर ओवैसी इसे साबित कर दें तो वह राजनीति छोड़ देंगे। एमआईएमआईएम के टीआरएस के साथ दोस्ताना ताल्लुकात हैं और उसने निर्मल सीट पर अपना प्रत्याशी भी नहीं उतारा है। उसने सत्तारूढ़ पार्टी के उम्मीदवार के पक्ष में एक सभा का आयोजन किया था हालांकि टीआरएस और एआईएमआईएम के बीच तेलंगाना में सात दिसंबर को होने वाले चुनाव के लिए कोई औपचारिक चुनावी समझौता नहीं हुआ है।

ओवैसी ने सभा में कहा, ‘‘ अब जब यह जलसा (सभा) हो रहा है तो कांग्रेस के लोगों ने असदुद्दीन ओवैसी को खरीदने की कोशिश की। महेश्वर (रेड्डी) ने एआईएमआईएम के एक नेता को फोन कर ओवैसी साहब को रोकने को कहा और पार्टी फंड में 25 लाख रुपये देने की बात कही। मेरे पास (बातचीत) की रिकॉर्डिंग है।’’ उन्होंने आरोप लगाया, ‘‘कांग्रेस का यह उम्मीदवार 25 लाख रुपये में मेरी पार्टी को खरीदना चाहते हैं। ये लोग समझते हैं कि हम अपनी जमात (पार्टी) का सौदा करेंगे। यह उनके गुरूर को दिखाता है।’’

उधर, रेड्डी ने कहा, ‘‘ कोई क्यों किसी की रैली को रोकेगा। ओवैसी पहले ही टीआरएस के लिए अपना प्रचार शुरू कर चुके हैं और अब यह शख्स कह रहा है कि उन्हें रोका जाए और 25 लाख रुपये की पेशकश की गई है। कोई उन्हें क्यों 25 लाख रुपये की पेशकश करेगा और उन्हें क्यों रोकेगा।’’





Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।


नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।