अदनान सामी को पद्मश्री देना 130 करोड़ भारतीयों का अपमान है: राकांपा

padma-shri-for-adnan-sami-an-insult-to-130-cr-indians-says-ncp
भारतीय नागरिकता प्राप्त कर चुके पाकिस्तान में जन्मे गायक अदनान सामी को पद्मश्री पुरस्कार के लिए चुने जाने पर उठे विवाद के बीच राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी ने सोमवार को सरकार के इस फैसले को 130 करोड़ भारतीयों का अपमान तथा सीएए, एनआरसी एवं एनपीआर पर सवालों का सामना कर रही राजग सरकार की नुकसान की भरपाई का कृत्य करार दिया।

मुंबई। भारतीय नागरिकता प्राप्त कर चुके पाकिस्तान में जन्मे गायक अदनान सामी को पद्मश्री पुरस्कार के लिए चुने जाने पर उठे विवाद के बीच राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी ने सोमवार को सरकार के इस फैसले को 130 करोड़ भारतीयों का अपमान तथा सीएए, एनआरसी एवं एनपीआर पर सवालों का सामना कर रही राजग सरकार की नुकसान की भरपाई का कृत्य करार दिया। महाराष्ट्र के अल्पसंख्यक विकास मंत्री और राकांपा प्रवक्ता नवाब मलिक ने चुटीले अंदाज में कहा कि अब कोई भी पाकिस्तानी गायक ‘जय मोदी’ का नारा लगाकर भारत की नागरिकता ले सकता है।

इसे भी पढ़ें: अदनान सामी को पद्मश्री देने पर भड़की कांग्रेस, कहा- सरकार की चमचागिरी का जादू

लंदन में पाकिस्तान वायु सेना के एक पूर्व अधिकारी के यहां जन्मे सामी ने 2015 में भारतीय नागरिकता के लिए आवेदन किया था और वह जनवरी 2016 में भारत के नागरिक बन गये थे। शनिवार को पद्मश्री पुरस्कार के लिए घोषित 118 लोगों की सूची में उनका भी नाम है। गृह मंत्रालय की सूची में उनका गृह राज्य महाराष्ट्र बताया गया है। मलिक ने कहा, ‘‘अगर पाकिस्तान से आकर कोई ‘जय मोदी’ का नारा लगाता है तो वह भारत की नागरिकता और पद्मश्री पुरस्कार भी प्राप्त कर सकता है। पुरस्कार के लिए सामी का चयन नुकसान की भरपाई की कवायद है।’’

इसे भी पढ़ें: भारत की नागरिकता ले चुके अदनान सामी ने किया CAB का समर्थन

बाद में राकांपा नेता ने ट्वीट किया कि भारत के अनेक मुस्लिम इस पुरस्कार के हकदार हैं। उन्होंने ट्वीट किया, ‘‘अदनान सामी को प्रतिष्ठित पद्मश्री पुरस्कार प्रदान करना 130 करोड़ भारतीयों का अपमान है। राजग सरकार सीएए, एनआरसी तथा एनपीआर के मुद्दे पर भारतीयों और दुनियाभर के लोगों के सवालों पर क्षतिपूर्ति की कोशिश कर रही है।’’ मलिक ने कहा कि सामी का चयन सरकार द्वारा सामान्य तौर पर समाज के लिए पैदा की गयी समस्याओं को ढकने का प्रयास है। कांग्रेस और महाराष्ट्र नवनिर्माण सेना पहले ही सामी को पद्मश्री दिये जाने के फैसले पर विरोध दर्ज करा चुके हैं।

Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।


अन्य न्यूज़