कश्मीरियों की मदद के लिए पाक आर्मी किसी भी हद तक जाने को तैयार: जनरल बाजवा

By प्रभासाक्षी न्यूज नेटवर्क | Publish Date: Aug 6 2019 5:29PM
कश्मीरियों की मदद के लिए पाक आर्मी किसी भी हद तक जाने को तैयार: जनरल बाजवा
Image Source: Google

पाक सेना ने कहा कि पाकिस्तान ने कभी भी भारतीय संविधान के अनुच्छेद 370 को मान्यता नहीं दी, जिसे नयी दिल्ली ने अपने आप ही अब निरस्त कर दिया है। उल्लेखनीय है कि पाकिस्तान ने जम्मू कश्मीर को विशेष दर्जा देने वाले अनुच्छेद 370 पर भारत सरकार के कदम की सोमवार को आलोचना की थी।

इस्लामाबाद। पाकिस्तानी थल सेना प्रमुख जनरल कमर जावेद बाजवा ने मंगलवार को कहा कि कश्मीरियों की मदद के लिए उनके सैनिक ‘‘किसी भी हद तक जाने’’ को तैयार हैं। भारतीय संविधान के अनुच्छेद 370 में जम्मू कश्मीर को विशेष दर्जा देने वाले प्रावधानों को रद्द करने के लिए भारत द्वारा कदम उठाए जाने के एक दिन बाद पाक सेना ने यह टिप्पणी की है।जनरल बाजवा ने पाक सेना में निर्णय लेने वाले सर्वोच्च मंच -- ‘‘कोर कमांडर्स कांफ्रेंस’’-- की अध्यक्षता की।

इसे भी पढ़ें: नियंत्रण रेखा स्थित आतंकी शिविरों में आतंकवादियों की संख्या बढ़ा रहा है पाकिस्तान: सेना

यह बैठक यहां जनरल हेडक्वाटर में हुई। बैठक में कश्मीर ही एकमात्र एजेंडा था। जनरल बाजवा ने सेना के कमांडरों से कहा, ‘‘पाकिस्तानी थल सेना कश्मीरियों के जायज संघर्ष में उनके साथ दृढ़ता से खड़ी है। हम तैयार हैं और अपने दायित्वों को पूरा करने के लिए किसी भी हद तक जा सकते हैं...। ’’ पाक थल सेना ने एक बयान में कहा कि मंच कश्मीर के बारे में भारतीय कार्रवाइयों को खारिज करने के पाकिस्तान सरकार के कदम का पूरी तरह से समर्थन करता है। 

इसे भी पढ़ें: कुरैशी ने UN को लिखा था खत, कहा- कश्मीर से हटाया जा सकता है विशेष राज्य का दर्जा



पाक सेना ने कहा कि पाकिस्तान ने कभी भी भारतीय संविधान के अनुच्छेद 370 को मान्यता नहीं दी, जिसे नयी दिल्ली ने अपने आप ही अब निरस्त कर दिया है। उल्लेखनीय है कि पाकिस्तान ने जम्मू कश्मीर को विशेष दर्जा देने वाले अनुच्छेद 370 पर भारत सरकार के कदम की सोमवार को आलोचना की थी। उसने भारत के इस कदम को ‘‘अवैध’’ और ‘‘एकतरफा’’ करार देते हुए इसके खिलाफ संयुक्त राष्ट्र में अपील करने समेत सभी संभावित विकल्पों का इस्तेमाल करने का भी संकल्प लिया।पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान ने भारत के इस कदम को ‘‘अवैध’’ करार दिया और कहा कि यह परमाणु हथियारों से लैस दो पड़ोसी देशों के बीच संबंधों को और अधिक बिगाड़ेगा।

रहना है हर खबर से अपडेट तो तुरंत डाउनलोड करें प्रभासाक्षी एंड्रॉयड ऐप   


Related Story

Related Video