मुख्यमंत्री अशोक गहलोत बोले- भाजपा के 25 सांसदों को चुनकर पश्चाताप कर रही है जनता

  •  प्रभासाक्षी न्यूज नेटवर्क
  •  मार्च 28, 2022   17:52
मुख्यमंत्री अशोक गहलोत बोले- भाजपा के 25 सांसदों को चुनकर पश्चाताप कर रही है जनता

मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने कहा कि, जनता ने भाजपा के 25 सांसदों को चुनकर पश्चाताप कर रही है।उल्लेखनीय है कि राजस्थान में लोकसभा की 25 सीटें हैं, जिनमें से 24 भाजपा के हिस्से में हैं जबकि एक एक राष्ट्रीय लोकतांत्रिक पार्टी का है।

जयपुर। मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने राज्य के भाजपा सांसदों पर स्थानीय समस्याएं नहीं उठाने का आरोप लगाते हुए सोमवार को कहा कि जनता अब इन सांसदों को चुनकर पश्चाताप कर रही है। गहलोत ने यहां संवाददाताओं से कहा कि इन सांसदों को राज्य की समस्याओं को केंद्रीय स्तर पर उठाना चाहिए। उन्होंने कहा, ‘‘आप कम से कम राजस्थान की पानी, बिजली या कोयले की जो समस्या है उसे तो उठाओ। कोई उठा ही नहीं रहा उन मांगों को... राजस्थान के 25 सांसदों को जिताकर जनता आज पश्चाताप कर रही है और इनको आगामी चुनाव में सबक सिखाएगी।’’

इसे भी पढ़ें: बदले बदले से हैं ज्योतिरादित्य सिंधिया के अंदाज, क्या शिवराज को टक्कर देने की तैयारी कर रहे हैं महाराज?

उल्लेखनीय है कि राजस्थान में लोकसभा की 25 सीटें हैं, जिनमें से 24 भाजपा के हिस्से में हैं जबकि एक एक राष्ट्रीय लोकतांत्रिक पार्टी का है। गहलोत ने भाजपा पर निशाना साधते हुए कहा, ‘‘इनको भ्रम नहीं होना चाहिए कि पांच में चार राज्यों में चुनाव जीत गए तो सबकुछ इनको मिल गया। लोकतंत्र में कब जनता का मिजाज बदल जाए, मालूम नहीं पड़ता। उन्होंने कहा, ‘‘यह हमने अनुभव से देखा है। देश में परमाणु परीक्षण करवाने वाली, 1971 में बांग्लादेश को आजाद करवाकर पाकिस्तान के दो टुकड़े करने वाली इंदिरा गांधी जैसी नेता चुनाव हार सकती है तो यह चीज ही क्या हैं?’’ मुख्यमंत्री ने कहा कि देश में महंगाई बहुत भयंकर है, बेरोजगारी को लेकर देश के नौजवानों में हाहाकार मचा है जबकि ये लोग हिंदुत्व और राष्ट्रवाद की बात कर के लोगों को भरमा रहे है... इनकी बातों में दम नहीं हैं। पेट्रोल, डीजल के दाम फिर बढ़ने के सवाल पर उन्होंने कहा, ‘‘आप देख रहे हैं कि दाम बढ़ने लग गए। जनता इन बातों को समझती है, इनकी कथनी और करनी में कितना बड़ा अंतर है। समय आने पर इनको झटका देगी जनता, यह समझ नहीं पाएंगे क्या हो गया।





Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।


नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।