ओणम की छुट्टियों के बाद लोगों को ज्यादा सचेत रहना होगा : केरल की स्वास्थ्य मंत्री

ss
केरल में ओणम की छुट्टियों के बाद 24 अगस्त से सभी दफ्तर और संस्थान खुल रहे हैं, ऐसे में कोविड की संभावित तीसरी लहर के मद्देनजर राज्य के लोगों को अगले चार सप्ताह तक ज्यादा सचेत रहना होगा।

तिरुवनंतपुरम। केरल में ओणम की छुट्टियों के बाद 24 अगस्त से सभी दफ्तर और संस्थान खुल रहे हैं, ऐसे में कोविड की संभावित तीसरी लहर के मद्देनजर राज्य के लोगों को अगले चार सप्ताह तक ज्यादा सचेत रहना होगा। राज्य की स्वास्थ्य मंत्री वीणा जॉर्ज ने सोमवार को बताया कि स्वास्थ्य विभाग की मंगलवार को आपात बैठक बुलायी गयी है, जिसमें ओणम की छुट्टियों के बाद सभी दुकानों और व्यवसायों से पाबंदी हटने के बाद की स्थिति पर विचार किया जाना है। उन्होंने कहा, ‘‘दुकानों को हमेशा के लिए बंद नहीं रखा जा सकता है क्योंकि सरकार को जीवन और जीविका की भी रक्षा करनी है।’’

इसे भी पढ़ें: अफगानिस्तान से अपने नागरिकों को बाहर निकालने के लिए तीन सैन्य विमान भेजेगा जापान

लेकिन, लोगों से कोविड प्रोटोकॉल का कड़ाई से पालन करने को कहा गया है, हालांकि ज्यादातर लोग इसका पालन करते हैं, लेकिन कई जगहों पर भीड़ एकत्र होने की भी सूचना है। प्रेस विज्ञप्ति के अनुसार, मंत्री ने कहा कि राज्य के कई इलाकों में कोरोना वायरस के बेहद संक्रामक डेल्टा स्वरुप का खतरा भी मंडरा रहा है। स्वास्थ्य मंत्री ने कहा, ‘‘तीसरी लहर का भी खतरा है। इसलिए, ओणम के बाद सभी संस्थानों और दफ्तरों के खुलने की स्थिति में सभी को बेहद सतर्क रहना होगा।’’

इसे भी पढ़ें: अफगानिस्तान से अपने नागरिकों को बाहर निकालने के लिए तीन सैन्य विमान भेजेगा जापान

उन्होंने यह भी कहा कि सरकार सभी का टीकाकरण करके उन्हें सुरक्षित रखने का प्रयास कर रही है, लेकिन किसी को भी सिर्फ इसलिए लापरवाही नहीं बरतनी चाहिए क्योंकि उन्हें टीका लग चुका है। मंत्री ने कहा, ‘‘हाल के अध्ययन में यह बात सामने आयी है कि टीका लगवा चुके लोग अगर सचेत ना रहे तो उनके डेल्टा वेरिएंट से संक्रमित होने का खतरा ज्यादा है। इसलिए सभी को ध्यान रखना चाहिए।

Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।


अन्य न्यूज़